Shiv Sena praised CM's efforts in battle of Corona in Maharashtra, said - Uddhav Thackeray has become family doctor for the state

    मुंबई: कोरोना वायरस (Coronavirus Pandemic) का प्रकोप महाराष्ट्र (Maharashtra) में लगातार जारी है। कोविड-19 (COVID-19) से संक्रमित मामले रोजाना बड़ी तेजी से बढ़ते जा रहे हैं। देश में कोरोना ने सबसे अधिक तांडव महाराष्ट्र में मचाया हुआ है। कोरोना से निपटने के लिए सूबे की उद्धव सरकार (Uddhav Govt) ने आज से अगले 15 दिनों के लिए नई पाबंदियां लागू करने का ऐलान कर दिया है। राज्य के सीएम उद्धव ठाकरे ने मंगलवार शाम जनता को संबोधित किया और इससे जुड़े मसले पर विस्तार से बात की। ऐसे में इस दौरान किन नियमों का पालन करना होगा यह जानना बहुत जरुरी है। 

    बता दें कि महाराष्ट्र में आज से लेकर अगले 15 दिनों तक सभी जरुरी सेवाओं को छोड़कर बाकी अन्य सेवाओं पर रोक लगाई गई है। सीएम उद्धव ठाकरे ने कहा कि इस दौरान सूबे में धारा 144 लागू रहेगी। मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि राज्य में ऑक्सीजन की किल्लत है इसलिए केंद्र सरकार सड़क के रास्तों सहित हवाई मार्ग से महाराष्ट्र में ऑक्सीजन भेजने का काम करे।

    वहीं जरुरी सेवाएं पूरी तरह से शुरू रहेंगी। जिसमें अस्पताल, मेडिकल इंश्योरेंस ऑफिस, मेडिकल स्टोर, फार्मा कंपनी, क्लीनिक, डायग्नोस्टिक सेंटर्स, सब्जी की दुकान, फल की दुकान, डेयरी, बेकरी और खाने संबंधी अन्य दुकानें  पूरी तरह से खुली रहेंगी। साथ ही पब्लिक ट्रांसपोर्ट में शामिल फ्लाइट, ट्रेन, टैक्सी, ऑटो, पब्लिक बस, मुंबई लोकल की सेवा पहले की तरह चलती रहेगी। 

    उल्लेखनीय है कि मीडिया संबंधी सभी सेवाओं पर किसी तरह की कोई रोक नहीं है। पेट्रोल पंप, कार्गो सर्विस और आईटी संबंधी काम भी शुरू रहेंगे। कंपनियों को वर्क फ्रॉम होम की सुविधा बढ़ाने का निर्देश भी सरकार ने दिया है। 

    गौर हो कि सिनेमा हॉल, एम्यूसमेंट पार्क, वीडियो गेम पॉर्लर,फिल्मों, एड, सीरियल्स की शूटिंग पूरी तरह से बंद रहेगी। पूरे राज्ये में धारा 144 लागू रहेगी।  बेवजह घर से निकलने पर पाबंदी लगाई गई है। स्वीमिंग पूल, जिम, क्लब और स्पोर्ट कॉम्पलेक्स भी बंद रहेंगे।

    महाराष्ट्र में मंगलवार को कोरोना के 60 हजार 212 नए मामले सामने आए हैं। जबकि 281 की मौत हुई है। राज्य में कोरोना संक्रमितो की संख्या बढ़कर 35 लाख 19 हजार 208 पहुंच गई है। जबकि अब तक कोविड के चलते 58 हजार 526 लोगों की जान राज्य में गई है।