महाराष्ट्र के 15 जिलों में कोरोना के चलते फिर बढ़ी चिंता, सूबे में प्रतिबंध कड़े कर सकती है उद्धव सरकार!

    नई दिल्ली: महाराष्ट्र में कोरोना (Maharashtra Corona Updates) की रफ्तार भले ही धीमी पड़ गई है। लेकिन कोविड (COVID-19 Pandemic) के मामले पूरी तरह से खत्म नहीं हुए हैं। कोरोना की तीसरी लहर का खतरा बना हुआ है। देश के कई राज्यों ने अब नियमों में ढील दे दी है। हालांकि कोविड नियमों का पालन करना बेहद जरूरी है। भारत में कोरोना पॉजिटिविटी रेट 2.25 प्रतिशत हो गया है। हालांकि महाराष्ट और केरल में स्थिति अब भी चिंताजनक बनी हुई है।

    ज्ञात हो कि केंद्रीय स्वास्थ मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ो के अनुसार देश में कोविड के 80 से 90 फीसदी मामले 90 जिलों में पाए गए हैं। इन 90 जिलों में से 15 जिले महाराष्ट्र के हैं। महाराष्ट्र में शुरू से ही कोरोना का तांडव देखने को मिला है। यही कारण है कि उद्धव सरकार की चिंता बढ़ गई है। ऐसे में अगर हालात नहीं सुधरते हैं तो आने वाले दिनों में सरकार पाबंदियां कड़े कर सकती हैं। 

    वहीं महाराष्ट्र के बाद दूसरे नंबर केरल बना है जहां कोविड का कहर जारी है। केरल के 14 जिलों में कोरोना का प्रकोप देखने को मिला है। फिर तमिलनाडू 12, ओडिशा 10, आंध्र प्रदेश 10, कर्नाटक 10 का नंबर आता है। देश के 66 जिलों में कोविड पॉजिटिविटी रेट 10 फीसदी से ज्यादा है। वैसे 10 फीसदी से अधिक वाले जिले अरुणाचल प्रदेश में है।

    दूसरी तरफ महाराष्ट्र में पिछले 24 घंटे के भीतर कोरोना के 8 हजार 535 नए मामले दर्ज हुए हैं। जबकि 156 लोगों की मौत हुई है। साथ ही 6 हजार से अधिक लोग कोविड का इलाज कराकर ठीक हुए हैं। सूबे में मौजूदा समय में कोरोना के 1 लाख 16 हजार 165 सक्रिय केस हैं। अब तक कोरोना की चपेट में आने से 1 लाख 25 हजार 878 लोगों की मौत हुई है।