maharashtra lockdown
File Pic

    महाराष्ट्र. देश (India) में जहाँ कोरोना संक्रमण (Corona Pandemic) की दूसरी लहर अब थोड़ी कमजोर पड़ती दिख रही है। वहीं अब कुछ दिनों से नए संक्रमितों के मुकाबले ठीक होने वाले मरीजों की संख्या भी बढ़ी है, जो कि थोड़ी बहुत रहत देने वाली खबर है। लेकिन फ़िलहाल अब भी मौतों का आंकड़ा एक तरह से हमें डरा ही रहा है। ऐसे में वर्तमान परिदृश्य में करीब महीनेभर से लागू पाबंदियों में अब थोड़ी राहत मिलने की शुरुआत भी होने वाली है। जहाँ दिल्ली, MP, हिमाचल को अनलॉक करने की तैयारी हो चुकी है। वहीं महाराष्ट्र (Mharashtra) में भी फिलहाल कुछ ढील देने की तैयारी है, जबकि यूपी को लेकर फिलहाल अभी कोई फैसला नहीं हुआ है।

    मंत्री राजेश टोपे ने दिया था इशारा:

    अगर हम महाराष्ट्र की बात करें तो यहां फिलहाल 15 दिन के लिए लॉकडाउन का बढ़ना तय है, यानी आगामी 15 जून तक लॉकडाउन को प्राथामिकता दी जाएगी। इस बाबत राज्य के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा है कि इस बार लॉकडाउन में थोड़ी बहुत ढील मिल सकती है। हालाँकि इसके लिए अलग से गाइडलाइंस जारी होंगी। करीब हफ्ते भर पहले भी इस पुरे मसले पर राज्य के स्वास्थ मंत्री राजेश टोपे ने स्थिति साफ करते हुए कहा था कि राज्य में अगर संक्रमण दर में कमी होती है और यह 10 प्रतिशत से नीचे रहता है तो सरकार फेज के हिसाब से प्रतिबंधों में ढील देने की घोषणा कर सकती है। हालांकि उन्होंने यह भी कहा था कि अंतिम फैसला लॉकडाउन बढ़ाने या हटाने को लेकर CM उद्धव ठाकरे ही लेंगे। वहीं खुद CM उद्धव ठाकरे लगातार लोगों से कोविड नियमों में पालन करने की अपील कर रहे हैं। साथ ही उन्होंने तह पहले ही साफ कर दिया था कि लॉकडाउन को हटाने का फैसला बाद में लिया जाएगा।

    15 दिन के लिए लॉकडाउन का बढ़ना तय:

    इसके साथ ही आपको बता दें कि फिलहाल महाराष्ट्र की उद्धव सरकार ने लॉकडाउन जैसी पाबंदियों को 15 दिनों तक बढाया है।इसे लेकर दिशानिर्देश 1 जून को जारी किया जाएगा। फिर साफ होगा कि कहां छुट दी गई है और कहां नहीं। राज्य के स्वास्थ मंत्री राजेश टोपे ने लॉकडाउन बढ़ाने की जानकारी दी है। उन्होंने कहा कि जिन क्षेत्रों मरीजों की संख्या और संक्रमण की दर अब भी ज्यादा है वहां ढील नहीं दी जाएगी। महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे ने इससे पहले कहा था कि कोरोना के कारण राज्य में लॉकडाउन जैसी पाबंदियों को एक जून के बाद भी बढ़ाया जाएगा। अप्रैल के मध्य से लागू प्रतिबंधों को बीते गुरुवार को कैबिनेट में बढाने का निर्णय उद्धव सरकार ने लिया था।