Lockdown extended in Chhattisgarh, allowed to extend till 31 May
Representative Image

    मुंबई: महाराष्ट्र (Maharashtra) में कोरोना (Coronavirus) के बढ़ते मामलों के बाद लगातार यह सवाल उठ रहा है क्या सूबे में लॉकडाउन (Lockdown) लग सकता है? हालांकि सरकार ने इसे लेकर कोई औपचारिक घोषणा नहीं की है। लेकिन सरकार की तरफ से इतना जरुर कहा गया है कि अगर लोग नहीं सुधरते हैं तो इस पर जरुर विचार किया जाएगा। दरअसल महाराष्ट्र में एक बार फिर कोरोना के सारे रिकॉर्ड टूट गए हैं। पिछले 24 घंटे के भीतर कोविड-19 (COVID-19) के 27 हजार से अधिक मामले सामने आए हैं। यही कारण है कि लॉकडाउन को लेकर कई तरह के कयास लगाए जा रहे हैं। हालांकि महाराष्ट्र सरकार अगर लॉकडाउन लगाती है तो क्या चालू रहेगा और क्या बंद इसे लेकर सभी के मन में सवाल जरुर होगा। 

    बता दें कि महाराष्ट्र में अगर लॉकडाउन का फैसला सरकार करती भी है तो सिर्फ जरुरी सेवाओं को चालु रखने की अनुमति दी जाएगी। साथ ही इस दौरान जरुरी सेवाओं में काम कर रहे लोगों को छोड़कर बाकी लोगों को आने-जाने की इजाजत नहीं होगी। दूध की दूकान, मेडिकल की दुकाने, एंबुलेंस सेवाएं, अस्पताल, किराने सामान की दुकाने चालू रहेंगी। रेस्टॉरेंट को होम डिलीवरी के लिए किचन चालू रखने की इजाजत रहेगी।जबकि लॉकडाउन में स्कूल-कॉलेज बंद रहेंगे। साथ ही ऑनलाइन लर्निंग जारी रहेगी।

    वहीं लॉकडाउन के दौरान बाकी चीजों की दुकाने चालू नहीं रहेंगी। साथ ही सामाजिक, राजनीतिक, मनोरंजन, धार्मिक कार्यक्रमों पर रोक रहेगी। साथ ही अगर लॉकडाउन लगता है तो सिनेमा हॉल, शॉपिंग मॉल, जिम, स्विमिंग पूल, इंटरटेनमेंट पार्क, थियेटर, बार, असेंबली हॉल भी बंद रखे जाएंगे। 

    अगर लॉकडाउन लगा तो विवाह समारोह में सिर्फ 50 लोगों के शामिल होने की इजाजत दी जा सकती है। साथ ही अंतिम संस्कार में सिर्फ 20 लोगों के शामिल होने की अनुमति मिल सकती है।  

    उल्लेखनीय है कि महाराष्ट्र में पिछले 24 घंटे के भीतर 27,126 नए कोरोना के मामले सामने आए हैं। जबकि 92 लोगों की मौत हुई है। सूबे में कोविड से संक्रमित मरीजों की संख्या 24 लाख 50 हजार 147 पहुंच गई है। अब तक इस खतरनाक वायरस की चपेट में आने से 53 हजार 300 लोगों की मौत हुई है।