Video: 'No river in Mumbai to hide corona deaths': Mumbai Mayor
Photo: ANI (File)

    मुंबई: मुंबई की महापौर किशोरी पेडनेकर ने बृहस्पतिवार को कहा कि आपत्तिजनक भाषा के इस्तेमाल को लेकर विवाद पैदा करने वाले उनके टि्वटर हैंडल से किया गया ट्वीट शिवसेना के एक कार्यकर्ता ने ‘‘गुस्से में आकर” पोस्ट किया था। शिवसेना नेता पेडनेकर ने यहां पत्रकारों से बातचीत में कहा कि जब वह बुधवार को यहां बांद्रा-कुर्ला परिसर में एक कार्यक्रम में भाग ले रही थी तो उनका मोबाइल फोन पार्टी के एक कार्यकर्ता के पास था जिसने ट्वीट कर दिया। 

    महापौर ने कहा कि जब उन्होंने वापस फोन लिया तो तुरंत ट्वीट डिलीट कर दिया। दरअसल, बुधवार को उस समय विवाद पैदा हो गया था जब एक टि्वटर उपयोगकर्ता ने बृहन्मुंबई महानगरपालिका (बीएमसी) के कोविड-19 रोधी टीके की आपूर्ति के वैश्विक अनुबंध की स्थिति के बारे में महापौर से सवाल पूछा। टि्वटर उपयोगकर्ता ने पूछा कि ‘‘कॉन्ट्रैक्ट किन्हें दिया गया?”, तो इस पर पेडनेकर ने जवाब दिया, ‘‘तुम्हारे बाप को।” 

    पेडनेकर ने बाद में आपत्तिजनक ट्वीट डिलीट कर दिया लेकिन तब तक वह सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। उन्होंने बृहस्पतिवार को कहा कि शिवसेना कार्यकर्ता ने ‘‘गुस्से में आकर” ट्वीट कर दिया लेकिन उन्होंने अपना फोन वापस मिलने के फौरन बाद इसे डिलीट कर दिया और कार्यकर्ता को ऐसी हरकत करने के खिलाफ आगाह भी किया। 

    पेडनेकर ने कहा, ‘‘मैंने इससे सीख ली है कि मोबाइल फोन ऐसे व्यक्ति को भी नहीं देना चाहिए जो आपके बहुत करीब हो।” इस ट्वीट के वायरल होने के बाद विपक्षी दलों ने महापौर की आलोचना की। (एजेंसी)