shegaon

    शेगांव. जहाँ एक तरफ कोरोना संक्रमण (Corona) के बढ़ते ग्राफ से महाराष्ट्र (Maharashtra) बुरी तरह से हलकान है। वहीं अब ऐसी भी खबरें आ रही हैं कि प्रशासन द्वारा कोरोना सेंटर्स (Corona Centres) में रह रहे मरीजों की ठीक से देखभाल भी नहीं हो रही है। दरअसल महाराष्ट्र के शेगांव (Shegaon) में कोरोना से संक्रमित कुछ मरीज कोविड केयर सेंटर के बाहर धरना प्रदर्शन में बैठ गए। इन मरीजों का यह आरोप है कि उन्हें दोपहर दो बजे तक खाना भी नहीं मिल रहा था, जिसकी वजह से वो सेंटर के परिसर में आकर अपना धरना प्रदर्शन करने लगे। 

    इस पर बुलढाणा जिला के अतिरिक्त जिलाधिकारी का कहना था कि, “मुझे यही बताया गया था कि खाना बनाने वाले के सिलिंडर ने काम करना बंद कर दिया था, जिस वजह से खाना देने में देरी हुई।” यही नहीं  जिलाधिकारी ने यह भी बताया कि फिलहाल ज्यादा जानकारी के लिए मामले में गहन पूछताछ शुरू है।

    गौरतलब है कि महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमण के मामले तेजी से दोगुने हो रहे हैं। जहाँ बीते शुक्रवार को पुरे महाराष्ट्र में एक दिन में कोरोना संक्रमण के 14,000 से ज्यादा मामले सामने आए। वहीं अब महाराष्ट्र सरकार ने नागपुर के बाद अकोला में भी संपूर्ण ़लॉकडाउन का एलान कर दिया है। 

    जी हाँ बीते शुक्रवार को राज्य सरकार ने अकोला में ‘संपूर्ण लॉकडाउन’ का एलान कर दिया है, जो आगामी 15 मार्च यानी सोमवार को सुबह आठ बजे तक चलेगा। इसके पहले नागपुर में भी संपूर्ण लॉकडाउन का एलान कर दिया गया था। वहीं पूणे में नाइट कर्फ्यू का फैसला लिया गया है। अब पुणे में रात 11 बजे से सुबह 6 बजे तक नाइट कर्फ्यू लगाने का एलान किया जा चूका है।

    यही नहीं यहाँ अब आगामी 31 मार्च तक स्कूल और कॉलेज बंद रहेंगे। इसके अलावा होटल और बार रात 10 बजे से सुबह 6 बजे तक बंद रहेंगे। इसके साथ ही महाराष्ट्र के परभानी जिले में भी बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए बीते शुक्रवार रात 12 बजे से सोमवार सुबह छह बजे तक लॉकडाउन लगाने का फैसला किया है।