पुलिस भर्ती में किसी भी समुदाय के साथ नहीं होगा अन्याय – अनिल देशमुख

मुंबई. महाराष्ट्र सरकार (Maharashtra Government) ने राज्य में 12,500 पुलिस कर्मियों की भर्ती (Police Recruitment) करने का निर्णय लिया है। इसलिए राज्य में युवाओं को नौकरी के अवसर उपलब्ध हो गए हैं। चार दिन पहले हुई कैबिनेट की बैठक में यह निर्णय लिया गया था। इसी पृष्ठभूमि पर राज्य के गृहमंत्री अनिल देशमुख (Home Minister Anil Deshmukh) ने इस पुलिस भर्ती के लिए 25 से 30 लाख आवेदन आने की उम्मीद की है। साथ ही उन्होंने कहा कि, किसी भी समाज के साथ कोई अन्याय नहीं होगा, यह सरकार की भूमिका होगी और मराठा समुदाय के 13% युवाओं को भी इसमें अवसर मिलेगा।

गृहमंत्री ने बताया कि, राज्य में 12,500 पुलिस कर्मियों की भर्ती पुलिस बल को और मजबूत करेगी। इसके लिए पिछले दो महीने से प्रक्रिया शुरू है। इसलिए, हमें 25 से 30 लाख आवेदन प्राप्त होने की उम्मीद है।

पुलिस भर्ती के बारे में जानकारी देते हुए गृहमंत्री ने कहा, “मंत्रिमंडल ने महाराष्ट्र में 12,500 पुलिस कर्मियों की भर्ती करने का निर्णय लिया है। महाराष्ट्र के इतिहास में इतनी बड़ी भर्ती पहली बार हो रही है। उन्होंने आगे कहा, पुलिस भर्ती की प्रक्रिया जल्द से जल्द शुरू की जाएगी। इस निर्णय से महाराष्ट्र के शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों के युवाओं को पुलिस विभाग में शामिल होने का अवसर मिलेगा।”

मराठा समुदाय के युवाओं पर अन्याय नहीं होगा

देशमुख ने कहा कि, “राज्य सरकार द्वारा घोषित पुलिस भर्ती में मराठा समुदाय के साथ अन्याय नहीं होगा। मराठा समुदाय के 13% युवाओं को भी इसमें अवसर मिलेगा। किसी भी समाज के साथ कोई अन्याय नहीं होगा, यह सरकार की भूमिका होगी।”