udhaav-koshiyari

    मुंबई: महाराष्ट्र (Maharashtra) में लेटर बम के बाद महाविकास अघाड़ी सरकार (Mahavikas Aghadi Government) में भूचाल आया हुआ है। एक ओर भाजपा (BJP) इस मामले को लेकर लगातार सरकार पर हमलावर है। वहीं दूसरी तरफ मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Udhav Thackeray) लागातर सहयोगियों के साथ बैठक कर रहे हैं। बुधवार को लेटर कांड के बाद पहली बार राज्य कैबिनेट (State Cabinet) की बैठक हुई। इसके बाद मुख्यमंत्री ने बिना अधिकारीयों के साथ केवल मंत्रियों के साथ बैठक की। वहीं आज गुरुवार को तीनों दलों नेता राज्यपाल भगत सिंह कोशियारी (Bhagat Singh Koshiyari) से मुलाकात करेंगे। 

    मिली जानकारी के अनुसार, कैबिनेट बैठक के बाद अपने सहयोगियों के साथ हुई बैठक करीब 45 मिनट तक यह बैठक चली। हालांकि, मुख्यमंत्री बैठक में वर्चुअल माध्यम से शामिल हुए थे। इस बैठक में अनिल देशमुख सहित शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शामिल हुए। वहीं बैठक खत्म होने के बाद देशमुख ने मुख्यमंत्री से उनके आवास पर जाकर भी मुलाकात की। 

    मुख्यमंत्री ने नेतृत्व में मिलेंगे 

    महाराष्ट्र कांग्रेस अध्यक्ष नाना पटोले ने कहा, “कल हम सीएम उद्धव ठाकरे के नेतृत्व में राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मिलेंगे। राज्यपाल के समक्ष सरकार का पक्ष प्रस्तुत किया जाएगा।” उन्होंने कहा, “कोई नियुक्ति नहीं मांगी गई है। राज्यपाल कल शहर से बाहर।”

    राज्यपाल से मिले भाजपा के नेता 

    इसके पहले बुधवार को विपक्षी दल भाजपा के नेताओं ने गवर्नर से मुलाकात की थी। पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस की अगुवाई में पहुंचे भाजपा प्रतिनिधि मंडल में पार्टी के कई बड़े और वरिष्ठ नेता शामिल थे। बैठक के बाद आयोजित प्रेस वार्ता में भाजपा नेताओं ने सरकार पर जोरदार हमला बोला। इसी के साथ मुख्यमंत्री ठाकरे का इस मुद्दे पर साधी चुप्पी पर भी सवाल खड़े किए।