governor approved the resignation of Sanjay Rathore

    मुंबई: पूजा चौहान आत्महत्या मामले (Pooja Chauhan Suicide Case) में मुश्किल में फंसे महाराष्ट्र राज्य (Maharashtra State) के वन मंत्री संजय राठोड (Forest Minister Sanjay Raut) ने आखिर मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है। रविवार को मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Udhav Thackeray) के सरकारी बंगाल वर्षा में पहुंच कर उन्होंने अपना त्यागपत्र दिया। लेकिन अभी तक मुख्यमंत्री ने उनका इस्तीफा मंजूर नहीं किया है। इसी के साथ उन्होंने मामले पर जांच की मांग की है।

    ज्ञात हो कि, पुणे निवासी टिकटॉक स्टार पूजा चौहान ने तीन मंजिला बिल्डिंग से कूद कर आत्महत्या कर ली थी। पूजा की आत्महत्या की खबर सामने आते ही पूरे महाराष्ट्र की राजनीति में भूचाल आ गया था। राज्य सरकार में वन मंत्री संजय राठोड के साथ उनका नाम लगातार जोड़ा गया, जिसके बाद से भारतीय जनता पार्टी लगातार सरकार पर हमलावर थी और मुख्यमंत्री उद्धव पर इस्तीफा लेने के लिए लगातार दवाब बनाया जारहा था। 

    मुझे बदनाम करने की कोशिश की गई

    इस्तीफा देने के बाद पत्रकारों से बात करते हुए राठोड ने कहा, “विपक्षी दलों ने निचले स्तर की राजनीति कर मेरे और मेरे समाज को बदनाम करने की कोशिश की है। मुझे राजनीतिक जीवन से दूर करें की कोशिश की गई है। मैंने अपना इस्तीफा इसलिएदिया है, जिससे सही से जांच हो सके और सत्य बाहर आए।”

    इस्तीफा नहीं करें गिरफ्तार

    राठोड के इस्तीफा देने पर महारष्ट्र भाजपा अध्यक्ष चंद्रकांत दादा पाटिल ने कहा, “यह भाजपा और जनता के दवाब के कारन हो पाया है। राठोड इस्तीफा देने के बाद भागेंगे नहीं इसकी क्या गैरंटी?, इसलिए उन्हें तुरंत गिरफ्तार कर जेल में डालना चाहिए।”

    संजय राऊत ने राजधर्म निभाने का दिया था इशारा 

    शिवसेना के प्रवक्ता संजय राउत ने आज सुबह राजधर्म निभाने को लेकर एक ट्वीट किया था। जिसमें उन्होंने छत्रपति शिवजी महाराज की फोटो शेयर करते हुए कहा, “शिवाजी महाराज के हाथ में जो शाही छड़ी है वो किस चीज की परिचायक है. ये महाराष्ट्र धर्म की तरफ इशारा करती है, जिसका मतलब है राजधर्म।”

    शक्ति अधिनियम समिति से इस्तीफा दे दूंगा

    विधानसभा सत्र शुरू होने के एक दिन पहले आयोजित प्रेस वार्ता में राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री और विधानसभा में नेता प्रति पक्ष देवेंद्र फडणवीस ने कहा, “सभी सबूत होने पर मंत्री संजय राठौर के मामले में कोई कार्रवाई नहीं की जाती है। मैंने पुलिस की ऐसी लाचार अवस्था कभी नहीं देखी।इससे ज्यादा सबूत अन्य किसी मामले में नहीं मिला होगा। कार्रवाई नहीं होरही इसका मतलब वरिष्ठ नेताओं का आशीर्वाद प्राप्त है।”

    उन्होंने कहा, “आम आदमी के लिए अलग न्याय! और हम एक जवाब चाहते हैं कि क्या हमने अधिकारियों को यौन दुराचार में संलग्न होने की स्वतंत्रता दी है। अगर मंत्री इस्तीफा नहीं देते हैं, तो हम शक्ति अधिनियम के लिए गठित समिति से इस्तीफा दे देंगे।”

    भाजपा महिला विंग ने खोल रखा था मोर्चा

    पूजा द्वारा आत्महत्या करने के बाद से ही भाजपा की महिला विंग ने संजय राठोड के खिलाफ मोर्चा खोला हुआ था। पुरे राज्य में रोजाना धारण प्रदर्शन किया जारहा था। जिसकी कमान भाजपा की महिला नेता चित्र वाघ ने संभल रखी थी। वह उद्धव ठाकरे सरकार पर राठौड़ का इस्तीफा लेने के लिए लगातार दवाब बना रही थी।