अनिल देशमुख की छुट्टी तय, जयंत पाटील या दिलीप वलसे पाटील हो सकते हैं अगले गृहमंत्री

    नई दिल्ली: महाराष्ट्र (Maharashtra) में आए राजनीतिक भूकंप से कांग्रेस (Congress), एनसीपी (NCP) और शिवसेना (Shivsena) की मुश्किलें बढ़ गई है। मुंबई के पूर्व कमिश्नर परमबीर सिंह (Parambir Singh) द्वारा गृहमंत्री अनिल देशमुख (Anil Deshmukh) पर लगाए आरोपों को लेकर रविवार को नई दिल्ली में महाविकास विकास अघाड़ी (Mahavikas Aghadi) में शामिल पार्टियों की बैठक हुई। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार देशमुख की छुट्टी तय हो गई है, वहीं उनकी जगह पर जयंत पाटील (Jayant Patil) या दिलीप वलसे पाटील (Dilip Walse Patil) को अगला गृहमंत्री बनाया जा सकता है। 

    एनसीपी सुप्रीमो शरद पवार के आवास पर आयोजित बैठक में महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री अजित पवार, मंत्री जयंत पाटिल, बारामती से सांसद सुप्रिया सुले, शिवसेना के राष्ट्रीय प्रवक्ता और राज्यसभा सांसद संजय राउत बैठक में शामिल थे। वहीं कांग्रेस की तरफ से मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ बैठक शुरू होने के कुछ समय बाद पहुंचे। एमवीए नेताओं की यह बैठक करीब तीन घंटे तक चली।

    गृहमंत्री के रेस में वलसे आगे

    सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार शरद पवार ने अनिल देशमुख को गृहमंत्री के पद से हटाने का निर्णय ले लिया है। सूत्रों के अनुसार, इस दौरान नए गृहमंत्री के लिए मौजूदा समय में सरकार में मंत्री और महाराष्ट्र एनसीपी प्रमुख जयंत पाटील और  पार्टी के वरिष्ठ नेता और विधायक दिलीप वलसे पाटील के नामो पर चर्चा की गई। वहीं सूत्रों ने बताया कि, गृहमंत्री की रेस में वलसे का नाम आगे चल रहा है।