Corona
Representative Image

    मुंबई. देश में कोरोना के मामले एक बार फिर बढ़ते दिख रहे हैं। इसी क्रम में देखा जाए तो एक प्रकार से महाराष्ट्र में कोरोना की रफ्तार अब खतरनाक और विस्फोटक होती जा रही है। गौरतलब है कि महाराष्ट्र में बीते 24 घंटे में 8,807 नए कोरोना संक्रमित मरीज मिले हैं। बता दें कि यह 18 अक्टूबर के बाद यह कोरोना मरीजों का सबसे बड़ा आंकड़ा है। इसी के साथ महाराष्ट्र राज्य में बीते 24 घंटे में 80 मरीजों की मौत भी हो गयी है। यह बीते 56 दिन में सबसे ज्यादा हुई मौतें हैं। इसके पहले बीते 30 दिसंबर को करीब 90 संक्रमितों ने दम तोड़ा था।

    दिल्ली में हालात ख़राब:

    वहीं, राजधानी दिल्ली में भी अब और संकट गहराता जा रहा है। दिल्ली में बीते बुधवार को 200 और लोगों में कोरोना संक्रमण पाया गया जबकि दो और संक्रमितों ने कल दम तोड़ दिया। गौरतलब है कि बढ़ रही कोरोना की रफ्तार को देखते हुए दिल्ली में 5 राज्यों से आने के वालों के लिए कोरोना टेस्ट अनिवार्य कर दिया गया है।

    भयावह हैं महाराष्ट्र में कोरोना के आंकड़े:

    जिस प्रकार से कोरोना का संक्रमण एक बार फिर महाराष्ट्र में बढ़ रहा है उससे राज्य एक बार फिर कोरोना से डरने लगा है। इसमें सबसे ज्यादा सबसे ज्यादा चिंताजनक हालात तो विदर्भ के कई शहरों और मुंबई की है। जहाँ पिछले 24 घंटे में महाराष्ट्र में कोरोना ने 80 लोगों को काल के गाल में डाला है। बता दें कि मुंबई ने बीते 119 दिन बाद हजार केस का आंकड़ा फिर से पार किया है। वहीँ अब मुंबई में पिछले 24 घंटे में कोराना के आये 1167 केस ने एक बार फिर हड़कंप मचा दिया है। बता दें कि पिछले साल 2020 के 18 अक्टूबर के बाद अब फिर इतनी मात्रा में मामले आए हैं। 

    वहीं अब धारावी में भी बीते एक महीने बाद नए केस आने का आंकड़ा दहाई अंक पर पहुंच चूका है। अब मुंबई में कोरोना मामले बढ़ने के साथ यहाँ सख्ती भी बढ़ती जा रही है। रेलवे स्टेशनों पर दूसरे राज्यों से आ रहे यात्रियों की भी अब जांच हो रही है। मुंबई एयरपोर्ट पर भी हिदायतें अब और सख्ती के साथ अमल की जा रही हैं।

    महाराष्ट्र में पिछले क्या हैं कोरोना संक्रमण की तस्वीर:

    • बीते 24 घंटों में 80 लोगों की कोरोना से गयी है।राज्य में..
    • बीते 24 फरवरी को 8,807 नए केस आए। 
    • इसके पहले 23 फरवरी को 6,218 नए केस आए। 
    • फिर 22 फरवरी को 5,210 नए मामले दर्ज हुए। 
    • इसके पहले 21 फरवरी को 6,971 नए केस दर्ज  
    • फिर 20 फरवरी को 6281 लोग संक्रमित हुए। 
    • 19 फरवरी को 6,112 नए मामले ने गंभीरता बढाई।

    क्या हैं बीते 24 घंटों के आंकड़े :

    वहीं अब महाराष्ट्र में बीते  24 घंटों में कोरोना के 8,807 नए मामले दर्ज किये गए हैं, जो कि पिछले 4 महीनों में सबसे ज्यादा संख्या में हैं। इस दौरान 2,772 मरीज डिस्चार्ज हुए और 80 मौतें भी दर्ज की गई। 

    • अब तक महाराष्ट्र में कोरोना के कुल मामले दर्ज हुए: 21,21,119 
    • अब तक कि कुल रिकवरी: 20,08,623 
    • वहीं फिलहाल सक्रिय मामले: 59,358 
    • कोरोना मृतकों की संख्या : 51,937

    कोरोना: अमरावती के हाल बुरे तो पुणे-नागपुर में भी संकट गंभीर-

    गौरतलब है कि राज्य में सबसे गंभीर हालात अमरावती (Amravati) की है। बीते बुधवार को यहां जहाँ 802 केस आए हैं और 10 लोगों की मौत हुई है। वहीं मंगलवार को 926 कोरोना मरीज पाए गए थे और 6 लोगों की मौत भी हुई थी। फिलहाल कोरोना के इस बढ़ते संकट के बीच अमरावती में तो ‘लॉकडाउन’  लगाया जा चुका है। 

    बता दें कि इस समय एक छोटी सी लापरवाही भी बड़ा घातक वार करेगी। अब पुणे (Pune) में भी बुधवार को 743 से ऊपर कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले हैं। जिसे देखते हुए पुलिस महकमा अब पहले से भी ज्यादा सतर्क है। जहाँ कोरोना के खिलाफ जागरुकता फैलाने के लिए यहाँ की पुलिस अभियान भी चला रही है। वहीं अब लोगों को फिर आगाह किया जा रहा है कि खतरा दोबारा आपके दरवाजे पर दस्तक दे रहा है।

    बुधवार को चौबीस घंटे के भीतर नागपुर (Nagpur) में 10,584 लोगों की जांच की गई, जिसमें 1,181 लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुई। बता दें कि पिछले वर्ष दिवाली के बाद से संक्रमित मरीजों की संख्या सबसे अधिक रही। चौबीस घंटे के भीतर जिले में की गई जांच के दौरान सिटी में 955 और ग्रामीण में 224 लोगों में संक्रमण की रिपोर्ट आई है।

    इधर उद्धव सरकार ने बीते बुधवार को सभी जिला अधिकारियों और म्युनिसिपल कमिश्नरों को टेस्टिंग बढ़ाने के कड़क निर्देश दिए हैं। वहीं अब पिछले 2-3 हफ्ते से महाराष्ट्र राज्य में रोजाना 60 हजार से ज्यादा टेस्ट हो रहे हैं।