Hiren Mansukh

    मुंबई: महाराष्ट्र आतंकवाद रोधी दस्ते (एटीएस) ने व्यवसायी मनसुख हिरन (Mansukh Hiren) की कथित हत्या के मामले के संबंध में दो व्यक्तियों को गिरफ्तार किया है। रविवार को एक अधिकारी ने बताया कि शनिवार देर रात को एक पुलिसकर्मी विनायक शिंदे (vinayak Shinde) और एक सटोरिये नरेश धारे को गिरफ्तार किया गया। अधिकारी ने कहा, “मामले के संबंध में पूछताछ के लिए दोनों आरोपियों को शनिवार को एटीएस मुख्यालय में बुलाया गया था और बाद में उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया।”   

    उन्होंने बताया कि शिंदे, लखन भैया फर्जी मुठभेड़ मामले में दोषी है और पिछले साल ही वह कुछ दिनों के लिए फरलो पर जेल से बाहर आया था। यह गिरफ्तारी उस दिन की गई जब केंद्रीय गृह मंत्रालय ने हिरन की मौत के मामले की जांच राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (एनआईए) को सौंप दी। तब तक इस मामले की जांच एटीएस कर रही थी। 

    अधिकारी ने कहा, “राज्य एटीएस ने अब तक कई लोगों से पूछताछ की है जिनमें मृतक के परिजन और पुलिस अधिकारी शामिल हैं। इन दोनों की गिरफ्तारी इस मामले में मिली बड़ी कामयाबी है।”एनआईए, विस्फोटकों की लदी कार और सचिन वाजे प्रकरण की जांच भी कर रही है। (भाषा)