DESHMUKH

    मुंबई/नागपुर.अभी आ रही एक बड़ी खबर के अनुसार, आज प्रवर्तन निदेशालय(ED) ने कथित भ्रष्टाचार के मामले में नागपुर (Nagpur) में पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख (Anil Deshmukh) की दो संपत्तियों पर अब से कुछ देर पहले ही छापेमारी की है।

    गौरतलब है कि इसके पहले बीते शुक्रवार को महाराष्ट्र (Maharashtra) के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख (Anil Deshmukh) के खिलाफ जारी जांच के बीच ED ने बड़ी कार्रवाई करते हुए अनिल देशमुख की 4 करोड़ रुपये मूल्य की संपत्ति कुर्क की थी। तब यह बताया गया था कि, उक्त कार्रवाई अनिल देशमुख के खिलाफ जारी मनी लॉन्ड्रिंग (Money Laundering) केस के तहत की गई है। 

    आज प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने धन शोधन मामले की जांच के सिलसिले में रविवार को महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख के नागपुर जिले में दो निवास स्थानों पर छापे मारे। एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि ED के दो अलग-अलग दलों ने यहां से करीब 60 किलोमीटर दूर स्थित कटोल शहर में देशमुख के आवास और कटोल के समीप वाडविहीरा गांव में उनके पैतृक घर पर छापे मारे।

    उन्होंने बताया कि सुबह करीब छह बजे छापे मारे गए। अधिकारी ने बताया कि देशमुख के कटोल परिसर पर तलाशी अभी चल रही है जबकि वाडविहीरा में तलाशी दोपहर 12 बजे के आसपास पूरी हो गयी। ED कथित तौर पर करोड़ों रुपये के घूस एवं वसूली गिरोह मामले से जुड़े धन शोधन के मामले की जांच कर रही है। 

    दरअसल ED  द्वारा पूछताछ के लिये भेजे गए कम के कम तीन समन के बावजूद देशमुख (72) जांच एजेंसी के सामने पेश नहीं हुए थे। तब केंद्रीय एजेंसी ने उनके बेटे ऋषिकेश और पत्नी को भी समन किया था लेकिन उन्होंने भी बयान दर्ज कराने से इनकार कर दिया था। ये समन महाराष्ट्र पुलिस से संबंधित 100 करोड़ रुपये के कथित घूस-सह-वसूली मामले के संबंध में PMLA के तहत दर्ज मामले के सिलसिले में जारी किए गए थे। इसी मामले के चलते देशमुख को इसी साल अप्रैल माह में अपने पद से इस्तीफा भी देना पड़ा था।

    विदित हो कि मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह ने देशमुख पर 100 करोड़ की वसूली का आरोप लगाया हुआ है। उनका यह भी कहना था कि जब मुंबई पुलिस के निलंबित अधिकारी सचिन वाजे से यह बातें होती थी तब अनिल देशमुख के पर्सनल सेक्रेट्री संजीव पलांडे भी कमरे में मौजूद रहा करते थे।

    इसके पहले पूर्व गृहमंत्री अनिल देशमुख के विरुद्ध दर्ज धनशोधन के एक मामले के संबंध में प्रवर्तन निदेशालय ने सचिन वाजे का बयान दर्ज किया था। पता हो कि कारोबारी मुकेश अंबानी के आवास एंटीलिया के बाहर एक SUV कार मिलने और मनसुख हिरन हत्याकांड मामले में गिरफ्तार होने के बाद सचिन वाजे फिलहाल न्यायिक हिरासत में जेल में है। यही नहीं इसको लेकर अब उन्होंने अदालत से उन्हें जमानत पर रिहा करने के लिए जमानत याचिका भी बीते शनिवार को ही दायर की है।