ANTILIA

    मुंबई. जहाँ एक तरफ पुलिस (Police) और सुरक्षा एजेंसी, एंटिलिया (Antilia) कार मामले को सुलझा लेने का दावा कर रही है। वहीं अब मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक यह खबर है कि एंटिलिया के बाहर जो दो कार पहुंची थीं, एक स्कॉर्पियो (Scorpio) और दूसरी इनोवा (Innova)। इसमें से ड्राइवर स्कॉर्पियो को छोड़कर इनोवा गाड़ी में बैठकर घटनास्थल से फरार हो गया था। इसके बाद मुंबई के मुलुंड टोल नाके पर इस इनोवा में दो लोगों को देखा गया था। 

     इनोवा कार मुंबई पुलिस की अपराध शाखा (CIU) यूनिट की:

    इस पर खबर आ रही है कि उक्त इनोवा कार मुंबई क्राइम ब्रांच की थी। बरामद  स्कॉर्पियो कार का मालिक तो मनसुख हिरेन था, लेकिन प्रश्न था कि वो इनोवा कार किसकी थी? जहाँ इसे लेकर गहन छानबीन चल रही थी। वहीं अब जांच पड़ताल में यह पता चला है कि यह कार क्राइम ब्रांच की ही थी। जी हाँ कुछ मीडिया रिपोर्ट्स की बात करें तो उक्त इनोवा कार मुंबई पुलिस की अपराध शाखा (CIU) यूनिट की ही है।

    गौरतलब है कि, पुलिस अधिकारी सचिन वाजे स्पेशल ब्रांच में तबादले से पहले क्राइम ब्रांच में ही तैनात था। वहीं शुरुआत में क्राइम ब्रांच ही इस मामले की जांच कर रहा था। इधर सूत्रों के मुताबिक एंटिलिया कार मामले मामले में जिन दो कारों का इस्तेमाल किया गया था। उनमें से एक स्कॉर्पियो थी जिनमें जिलेटिन की छड़ रखी गई थीं। वहीं दूसरी कार इनोवा थी जो स्कॉर्पियो के पीछे-पीछे ही चल रही थी। यह भी बता दें कि मुंबई के मुलुंड टोल नाके पर इस इनोवा को देखा भी गया था। इसके बाद मुंबई के चेंबूर इलाके में यह दोनों इनोवा और स्कॉर्पियो कार एक साथ मिलीं और फिर दोनों एंटीलिया की तरफ कारमाइकल रोड की तरफ साथ ही साथ तरफ बढ़ीं थीं।

    क्या थी घटना:

    बता दें कि बीते 25 फरवरी को मुकेश अंबानी के घर के बाहर विस्फोटक से भरी एक स्कॉर्पियो मिली थी। स्कॉर्पियो में 20 जिलेटिन की छड़े और एक धमकी भरा पत्र मिला था। जांच में पता चल की यह कार मनसुख हिरेन नामक व्यवसायी की है। लेकिन दूसरे ही दिन उनकी लाश ठाणे के क्रीक स्थित एक नाले में मिली। पुलिस को उनके मुँह में ठुसे पांच रुमाल भी मिले थे। वहीं मुंबई पुलिस ने बताया था कि, मिली कार चोरी की है। 18-19 फ़रवरी को एरोली-मुलुंद ब्रिज से चोरी हुई थी।