corona
File Photo

    नागपुर. एक तरफ महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमण अपने पुरे उफान पर है। वहीं अब महाराष्ट्र के नागपुर में कोरोना (Corona Cases in Nagpur) के बढ़ते मामलों ने अब उद्धव सरकार अच्छी खासी चिंतित है। फिलहाल तो ऐक्टिव मामलों की संख्या में पुणे (Pune) शहर इस समय राज्य की कोरोना लिस्ट में सबसे ऊपर है। लेकिन यह भी एक सच है कि विदर्भ (Vidharbha) के 11 शहरों में बीते शुक्रवार को 4000 से अधिक कोरोना केस मिले हैं। 

    एक्टिव मामलों में 229% की आश्चर्यजनक बढ़त:

    जहाँ महाराष्ट्र में बीते साल अक्‍टूबर 2020 के बाद, पहली बार इतनी बड़ी संख्‍या में कोरोना संक्रमित मरीजों का पता चला है। वहीं अब पिछले 12 फरवरी से 11 मार्च तक में अकेले महाराष्‍ट्र में 74 हजार एक्टिव केस बढ़े हैं। यहं अब एक्टिव मामलों में 229% की आश्चर्यजनक बढ़त देखने को मिली है। फिलहाल राज्य में कुल मामलों की संख्या 22.82 लाख हो गई है जबकि मरने वालों की संख्या 52,723 पहुंच चुकी है। इनमें से अकेले 56 लोगों की मौत तो बीते शुक्रवार को हुई है।

    गौरतलब है कि नागपुर में आगामी 15 से 21 मार्च तक के लिए सात दिन का सम्पूर्ण लॉकडाउन का ऐलान हुआ है। वहीं जबकि पुणे में नाईट कर्फ्यू लगाया गया है। वहीं औरंगाबाद में वीकेंड्स पर लगभग टोटल लॉकडाउन का ऐलान हुआ है। बता दें कि पिछले महीने अमरावती में लॉकडाउन लगा था। इसके साथ जलगांव में भी 11 से 15 मार्च तक का जनता कर्फ्यू लगा है। इसके अलावा मुंबई, नागपुर, पिंपरी चिंचवाड़, नासिक, औरंगाबाद, ठाणे, नवी मुंबई, कल्याण डोंबिवली, अकोला, यवतमाल, वाशिम और बुलधाना में मूवमेंट पर भी प्रतिबंध लगा हुआ है

    पुणे में सबसे अधिक कोरोना केस:

    अगर हम केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की लिस्ट देखें तो देश में कोविड केसों की संख्या के मामले में पुणे शहर फिलहाल पहले स्थान पर है। पुणे में कोरोना के 18,474 केस ऐक्टिव हैं। इसके अलावा अकेले नागपुर में 12,724 मरीज सक्रिय हैं। लिस्ट में राज्य के कई और शहर भी हैं, जिनमें ठाणे (10460), मुंबई (9973) और जलगांव (5029) भी प्रमुख रूप से शामिल हैं।

    नागपुर में 15 कोरोना मरीजों की मौत:

    अब अगर सरकारी आंकड़ों की बात करें तो अकेले विदर्भ क्षेत्र में कुल 4235 केस सामने आए हैं, जिनमें सबसे अधिक केस नागपुर में मिले हैं। नागपुर में जहाँ इस इस हफ्ते वीकेंड लॉकडाउन लगाया गया है। इससे पहले बीते शुक्रवार को कोरोना के चलते अकेले विदर्भ क्षेत्र में कुल 37 मरीजों की मौत हुई है। इनमें 15 की मौत नागपुर जिले में हुई है।

    नागपुर: लॉकडाउन से लोग बेपरवाह –

    जहाँ एक तरफ नागपुर में कोरोना संक्रमण से चिंतित हो महाराष्ट्र सरकार ने आगामी 15 से 21 मार्च तक लॉकडाउन लगा रखा है। वहीं कुछ लोग इन सबसे बेपरवाह कोरोना नियमों की धज्जियां उड़ाते देखे गए। जी हाँ आज  नागपुर के कॉटन मार्केट में लोग सामाजिक दूरी के नियमों का उल्लंघन करते हुए दिखाई दिए। 15 मार्च से शुरू होने वाले एक सप्ताह के लॉकडाउन से पहले बड़ी संख्या में लोग आज बाजार में पहुंचे हैं। इससे साफ़ प्रतीत होता है की कोरोना संक्रमण को लेके आम जन अब पूरी तरह से बेपरवाह हो गए हैं और समय की विकटता को समझ ही नहीं रहे हैं। वहीं कुछ लोग तो इसे मौज मजा का समय मान के चल रहे हैं और शराब की दुकानों में बिना किसी मास्क के अपने हफ्ते का पूरा कोटा खरीदते दिख रहे हैं।

    विदर्भ: अब तक 3.62 लाख केस:

    वहीं अगर कोरोना के रिकवरी रेट की बात करें तो विदर्भ में अब तक कुल 3।62 लाख केस सामने आ चुके हैं, जिनमें 3।19 लाख मरीज अब ठीक भी हो चुके हैं। इस तरह नागपुर का रिकवरी रेट करीब 88% के आसपास है। वहीं फिलहाल 14,191 मरीज अब भी अपना इलाज करवा रहे हैं।

    गौरतलब है कि राज्य में बीते साल 2 अक्टूबर, 2020 को 15,000 से अधिक मामले आए थे, जिसके बाद नए मामलों में गिरावट आई थी। लेकिन पिछले महीने मामलों में तेज उछाल आया। राज्य में बुधवार और बृहस्पतिवार को 13,659 और 14,317 मामले सामने आए।