Balasaheb Thorat

    मुंबई. महाराष्ट्र विधानसभा के नए अध्यक्ष के लिए काउंटडाउन शुरू हो गया है। महाराष्ट्र विकास आघाडी सरकार में राजस्व मंत्री बालासाहेब थोरात (Balasaheb Thorat) ने कहा है कि 5 जुलाई से शुरू हो रहे महाराष्ट्र विधान मंडल के मानसून सत्र (Monsoon Session) में नए विधानसभा अध्यक्ष का चुनाव होगा। 

    उन्होंने कहा कि इस संबंध में मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Chief Minister Uddhav Thackeray) और उपमुख्यमंत्री अजीत पवार (Deputy Chief Minister Ajit Pawar) के साथ चर्चा हो चुकी है। हम सभी विधायकों के स्वस्थ होने पर ज्यादा जोर दे रहे हैं, ताकि सत्र शुरू होने से पहले उनकी कोरोना रिपोर्ट सही आ सके। आघाडी सरकार में विधानसभा अध्यक्ष का पद कांग्रेस के पास है। इस पद पर कांग्रेस की ओर से नाना पटोले को नियुक्त किया गया था, लेकिन प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष की कमान संभालने के बाद उन्होंने विधानसभा अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया है। तब से यह पद रिक्त है।  

    संग्राम थोपटे अध्यक्षता पद के प्रबल उम्मीदवार   

    विधानसभा अध्यक्ष पद के लिए कांग्रेस की तरफ से भोर विधानसभा सीट से तीन बार से विधायक संग्राम थोपटे को प्रबल उम्मीदवार माना जा रहा है। पार्टी सूत्रों के मुताबिक, पुणे में कांग्रेस को प्रतिनिधित्व देने के मकसद से थोपटे को यह पद दिया जाएगा। अगले साल पुणे महानगरपालिका के चुनाव के मद्देनजर भी इस नियुक्ति को अहम माना जा रहा है। पुणे में एनसीपी के बढ़ते वर्चस्व पर लगाम लगाने के लिए कांग्रेस की रणनीति का यह हिस्सा है।

    वडेट्टीवार को भविष्य में बड़ा अवसर

    राजस्व मंत्री थोरात ने कैबिनेट मंत्री विजय वडेट्टीवार की नाराजगी पर कहा कि वडेट्टीवार के बयान को गलत समझा गया है। मुझे लगता है कि वे कुछ और कहना चाहते थे। थोरात ने कहा कि वडेट्टीवार के पास अभी लंबा राजनीतिक करियर है। भविष्य में वडेट्टीवार को निश्चित रूप से बड़ा अवसर मिलेगा। उन्हें बस थोड़ा इंतजार करना चाहिए। राहत और पुनर्वास मंत्री और कांग्रेस नेता विजय वडेट्टीवार ने ओबीसी के एक सम्मेलन में अपने मंत्री पद को लेकर भेदभाव का आरोप लगाया था। उन्होंने कहा कि मैंने सोचा था कि मुझे राजस्व खाता दिया जाएगा, लेकिन ओबीसी नेता होने की वजह से यह खाता नहीं दिया गया। वडेट्टीवार के इस बयान से कांग्रेस के अंदर खलबली मच गई थी।