SACHIN-VAZHE

    मुंबई. देश के सबसे बड़े और धनी उद्योगपति मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani) के दक्षिण मुंबई स्थित आवास (Antilia) के पास विस्फोटकों से लदी एक SUV मिलने के मामले की जांच कर रही राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने मुंबई पुलिस के अधिकारी सचिन वाजे (Sachin Vaze) को बीते शनिवार 12 घंटे से अधिक समय तक पूछताछ करने के बाद देर रात गिरफ्तार (Arrest) कर लिया है। बता दें कि वाजे, दक्षिण मुंबई में कंबाला हिल स्थित एजेंसी के दफ्तर में पूर्वाह्न करीब साढ़े 11 बजे अपना बयान दर्ज कराने के लिए पहुंचे थे। आब आज यानी रविवार को उन्हें अदालत में पेश किया जाएगा।  

    गौरतलब है कि पुलिस अधिकारी सचिन वाजे ने गिरफ्तारी से बचने के लिए बीते शुक्रवार को ही ठाणे सत्र न्यायालय में यचिका दायर कर दी थी। अदालत ने इस मामले की सुनवाई 19 मार्च को तय की थी। वहीं वाजे को गिरफ्तार करने के बाद NIA  ने बताया कि सचिन वाझे को IPC की धारा 286, 465, 473, 506(2), 120 बी और 4 (ए)(बी)(आई) विस्फोटक वस्तु एक्ट 1908 के तहत गिरफ्तार किया गया है।

    मनसुख हिरेन की पत्नी का दावा:

    बता दें कि जिलेटिन युक्त विस्फोटक भरी स्कॉर्पियो के मालिक मनसुख हिरेन की मौत के मामले में वाझे पर आरोप लगे हैं। इस पर हिरेन की पत्नी ने वाझे पर पति की हत्या करने का आरोप लगाया है। यह मुद्दा विधानसभा में भी उठाया गया। इसके बाद विपक्ष के दबाव में वाझे का तबादला पहले पुलिस के गुप्त वार्ता विभाग से CFC विभाग में किया गया अब उन्हें नगरी सुविधा केंद्र में भेजा गया है। CFC शहर पुलिस की एक इकाई है।

    सचिन वाजे ने खुद भी किया था घटना वाली स्कॉर्पियो कार का उपयोग:

    आपको बता दें कि हिरेन की पत्नी ने यह दावा किया था कि उनके पति ने नवंबर में सचिन वाजे को अपनी कार दी थी, जिसे मुंबई अपराध शाखा में तैनात रहे वाजे ने बीते फरवरी के पहले सप्ताह में लौटाया था। वहीं हिरेन ने यह दावा भी किया था कि यह गाड़ी कुछ दिन पहले चोरी हो गई थी। हालांकि, सचिन वाजे ने इस बात से इनकार किया था कि वह खुद भी मनसुख हिरन की स्कॉर्पियो कार का उपयोग कर रहे थे। 

    मनसुख की पत्नी विमला हिरेन ने कुछ दिन पहले ATS को बताया था कि जिस पुलिस अधिकारी सचिन वाजे को जांच की जिम्मेदारी दी गई थी उसने चार महीने तक घटना में शामिल स्कॉर्पियो कार का इस्तेमाल खुद भी किया था। उन्होंने आशंका जताई थी कि उनके पति की हत्या में भी इन्ही सचिन वाजे का हाथ है। 

    एंटीलिया के बाहर मिली थी विस्फोटक लदी SUV:

    दरअसल 25 फरवरी को मुकेश अंबानी के घर के बाहर विस्फोटक से भरी एक स्कॉर्पियो मिली थी। स्कॉर्पियो में 20 जिलेटिन की छड़े और एक धमकी भरा पत्र मिला था। जांच में पता चल की यह कार मनसुख हिरेन नामक व्यवसायी की है। लेकिन दूसरे ही दिन उनकी लाश ठाणे के क्रीक स्थित एक नाले में मिली। पुलिस को उनके मुँह में ठुसे पांच रुमाल भी मिले थे। वहीं मुंबई पुलिस ने बताया था कि, मिली कार चोरी की है। 18-19 फ़रवरी को एरोली-मुलुंद ब्रिज से चोरी हुई थी। यही नहीं हिरेन की पत्नी ने दावा किया था कि उनके पति ने नवंबर में वाजे को अपनी कार दी थी।

    गौरतलब है कि उस समय मामले की जांच कर रहे महाराष्ट्र ATS ने इस सप्ताह की शुरुआत में ही सचिन वाजे का बयान दर्ज किया था। यह भी बता दें कि वाजे को 2004 में ख्वाजा यूनुस की कथित तौर पर हिरासत में मौत के मामले में निलंबित भी किया गया था। लेकिन फिर साल 2020 में उनकी सेवाएं पुनः बहाल की गई और वह मुंबई अपराध शाखा की CIU इकाई का नेतृत्व कर रहे थे।