Divisional Commissioner Saurabh Rao

    पुणे. कोरोना (Corona) की बदतर स्थिति को देखकर पुणे (Pune) में लॉकडाउन (Lockdown) लागू नहीं किया जाएगा, लेकिन कोरोना के प्रसार को रोकने के लिए प्रतिबंधों को सख्त (Strict) किया जाएगा। नाइट कर्फ्यू (Night curfew) जारी रहेगा। स्कूल और कॉलेज 31 मार्च तक बंद रहेंगे। होटल, बार, रेस्तरां 10 बजे तक खुले रहेंगे। जो पहले 11 बजे तक थे।

    पालकमंत्री अजीत पवार (Ajit Pawar) के साथ ली हुई बैठक में यह निर्णय लिया गया। ऐसी जानकारी डिविजनल कमिश्नर सौरभ राव (Divisional Commissioner Saurabh Rao) ने दी। 

    उपमुख्यमंत्री के साथ बैठक 

    कोरोना नियंत्रण उपमुख्यमंत्री अजीत पवार की अध्यक्षता में आज एक बैठक आयोजित की गई थी। बैठक में प्रतिबंधों को सख्त करने का निर्णय लिया। पुणे जिले में स्कूल और कॉलेज 31 मार्च तक बंद रहेंगे। (10 वीं -12 वीं की परीक्षा को छोड़कर)। पहले की तरह रात 11 बजे से कर्फ्यू जारी रहेगा। होटल, बार, रेस्तरां 10 बजे तक खुले रहेंगे। रात 11 बजे तक पार्सल सेवा जारी रहेगी। ऐसा डिविजनल कमिश्नर द्वारा कहा गया।  होटल, रेस्तरां में 50 प्रतिशत बैठने की क्षमता के साथ जारी रखने होंगे। होटल के सामने एक साइन बोर्ड लगाना होगा। 

     कार्यक्रम में सिर्फ 50 लोग 

    डिविजनल कमिश्नर के अनुसार, दशक्रिया, अंतिम संस्कार में शादी समारोह में 50 लोगों की उपस्थिति अनिवार्य होगी।  इसका उल्लंघन करने पर पुलिस कार्रवाई होगी। कभी-कभार होटल मालिक पर भी कार्रवाई करने के निर्देश दिए है। साथ ही जगह को भी सील किया जाएगा। राव ने कहा कि हाउसिंग सोसायटी में क्लब हाउस बंद रहेंगे। मॉल, सिनेमा हॉल रात 10 बजे बंद हो जाएंगे। फुटपाथों पर एक बार में पांच से अधिक लोग नहीं रुक सकते। 

    उपमुख्यमंत्री अजीत पवार की अध्यक्षता में बैठक आयोजित की गई थी। बैठक में प्रतिबंधों को कड़ा करने का निर्णय लिया। पुणे जिले में स्कूल और कॉलेज 31 मार्च तक बंद रहेंगे। (10 वीं -12 वीं की परीक्षा को छोड़कर)। पहले की तरह रात 11 बजे से कर्फ्यू जारी रहेगा। होटल, बार, रेस्तरां 10 बजे तक खुले रहेंगे। रात 11 बजे तक पार्सल सेवा जारी रहेगी। होटल, रेस्तरां में 50 प्रतिशत बैठने की क्षमता के साथ जारी रखने होंगे।

    - सौरभ राव, डिविजनल कमिश्नर

    प्रतियोगी परीक्षाओं की पृष्ठभूमि पर कोचिंग कक्षाओं की अनुमति दी जानी चाहिए। ऐसी मांग मैंने की थी। उपमुख्यमंत्री अजीत पवार की बैठक में सुझाव को स्वीकार कर लिया गया और नियमों का पालन करते हुए 50 प्रतिशत बैठने की अनुमति दी गई है।

    - मुरलीधर मोहोल, महापौर