sharad-ajit

    मुंबई. जहाँ एक तरफ देश के धनी उद्योगपति मुकेश अम्बानी (Mukesh Ambani) और एंटीलिया केस (Antilia Case) की जांच की आंच के मध्य अपना इस्तीफा देने वाले मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमवीर सिंह (Parambir Singh) ने अपने एक लेटर से महाराष्ट्र की राजनीति को फिर से सुलगा के रख दिया दिया है। अब CM उद्धव ठाकरे (Udhhav Thackrey) को लिखी गई परमवीर सिंह की चिट्ठी के बाद अब महाराष्ट्र राज्य में सियासी भूचाल और भी तेज हो गया है। 

    गौरतलब है कि परमवीर सिंह की चिट्ठी में NCP के कद्दावर नेता और राज्य के गृहमंत्री अनिल देशमुख (Anil Deshmukh) पर सचिन वाजे से 100 करोड़ रुपये हर महीने वसूली करवाने के निर्देश देने का का आरोप है।  

    इधर अब इन आरोपों से घिरने के बाद अनिल देशमुख पर इस्तीफे का भारी दबाव बन गया है।  लेकिन अब इन सबके मध्य NCP परमुख और पार्टी संकटमोचक शरद पवार भी एक्टिव हो चुके हैं।  बताया जा रहा है कि शरद पवार (Sharad Pawar) फिलहाल दिल्ली में हैं, और कुछ मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक उन्होंने NCP के दो बड़े नेताओं को यहीं तलब किया है।  यह भी खबर है कि इस बैठक में उपमुख्यमंत्री अजित पवार और NCP के महाराष्ट्र प्रदेश अध्यक्ष जयंत पाटिल शामिल होने वाले है जिसके लिए वे महाराष्ट्र से दिल्ली आएंगे। 

    अगर मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो  इस अति महत्वपूर्ण बैठक में NCP नेताओं के बीच अनिल देशमुख पर लगे आरोपों को लेकर चर्चा की जाएगी।  आपको बता दें कि राज्य के गृहमंत्री अनिल देशमुख का इस  मुद्दे पर नाम आने के बाद से ही राज्य की उद्धव सरकार अब भारी दबाव में है।  वहीं विपक्ष की तरफ से भी अब गृहमंत्री अनिल देशमुख के खिलाफ जांच करने और उनके इस्तीफे की पुरजोर मांग हो रही है।