GARBA

मुंबई. मुंबई (Mumbai)  के कोरोना (Corona) केंद्रों में मरीजों के ‘गरबा’ (Garba) करने के दो वीडियो सोशल मीडिया पर खूब देखे जा रहे हैं। हालांकि महाराष्ट्र सरकार ने लोगों से अपील की थी कि वे नवरात्रि के दौरान डांडिया आयोजन के बजाए रक्तदान शिविर और स्वास्थ्य शिविर लगाएं। वायरल हुए वीडियो में से एक में पीपीई किट पहने स्वास्थ्य कर्मियों के साथ कोविड-19 महिला वार्ड की कई मरीज मास्क लगाकर एक फिल्मी गाने पर गरबा करते हुए नजर आ रही हैं। इस वीडियो क्लिप में कुछ महिला मरीज प्रस्तुति को देखती भी नजर आई हैं। वहीं एक अन्य वीडियो में कुछ पुरुष मरीज ‘नर्सिंग स्टेशन 15′ में पीपीई किट पहने स्वास्थ्यकर्मियों के साथ गरबा करते हुए दिखे हैं।

सोशल मीडिया पर कुछ पोस्ट के मुताबिक ये वीडियो गोरेगांव में बृहन्मुंबई महानगरपालिका के कोविड-19 केंद्र के हैं। इस संबंध में बीएमसी आयुक्त इकबाल सिंह चहल ने पीटीआई-भाषा को मंगलवार को बताया कि गरबा प्रस्तुति वाला एक वीडियो बीएमसी के कोविड-19 केंद्र का है लेकिन केंद्र के डीन ने उन्हें बताया है कि उन्होंने इसका आयोजन नहीं किया था। चहल ने कहा कि केंद्र के डीन ने उन्हें यह भी बताया कि मरीज स्वास्थ्यकर्मियों के साथ खुद ही जश्न मना रहे थे और वे प्रसन्न एवं अच्छा महसूस कर रहे थे।

उन्होंने डीन के हवाले से कहा, ‘‘ ऐसा करने में खुशी मिलने की वजह से केंद्र के डॉक्टरों ने उन्हें इसकी अनुमति दे दी।” मुंबई, देश में कोविड-19 से बुरी तरह प्रभावित शहरों में से एक है और अभी तक यहां संक्रमण के करीब 2.43 लाख मामले आ चुके हैं तथा 9,700 लोगों की मौत संक्रमण की वजह से हो चुकी है। महाराष्ट्र सरकार ने पिछले महीने लोगों से अपील की थी कि वे महामारी के मद्देनजर नवरात्रि और दशहरा का उत्सव सादगी से मनाएं।