प्रताप सरनाईक का CM ठाकरे को पत्र, कहा- कांग्रेस और NCP तोड़ने चाह रही पार्टी, PM मोदी का साथ होगा फायदेमंद

    मुंबई: महाराष्ट्र (Maharashtra) की सत्ता में काबिज महा विकास अघाड़ी सरकार (MahaVikas Agadi Government) में सक कुछ सही नहीं चल रहा है। एक और कांग्रेस (Congress) जहां अपने दम पर चुनाव लड़ने का ऐलान कर दिया है। वहीं अब शिवसेना (Shivsena) ने कांग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेस (Nationalist Congress Party) पर शिवसेना को तोड़ने का आरोप लगाया है। रविवार को मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Udhav Thackeray) को पत्र लिखा कर विधायक प्रताप सरनाईक ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) के साथ जाने को ज्यादा फायदेमंद बताया है।  

    एनसीपी को केंद्र का समर्थन 

    सरनाईक ने लिखा, “राकांपा और कांग्रेस को चाहिए अपना खुद का सीएम’ कांग्रेस अकेले चुनाव लड़ना चाहती है और राकांपा शिवसेना से नेताओं को अलग करने की कोशिश कर रही है। लगता है एनसीपी को केंद्र से परोक्ष समर्थन, राकांपा नेताओं के पीछे कोई केंद्रीय एजेंसी नहीं”

    फिर साथ आने से होगा फायदा

    कांग्रेस विधायक ने कहा, “हम आप पर और आपके नेतृत्व पर विश्वास करते हैं लेकिन कांग्रेस और राकांपा हमारी पार्टी को कमजोर करने की कोशिश कर रहे हैं। मेरा मानना है कि अगर आप पीएम मोदी के करीब आते हैं तो बेहतर होगा… अगर हम एक बार फिर साथ आ गए तो यह पार्टी और कार्यकर्ताओं के लिए फायदेमंद होगा।”

    नेताओं और परिवार की चिंता होगी दूर

    सरनाईक ने अपने पत्र में लिखा, “केंद्रीय एजेंसियां हमारी गलती के बिना हमें निशाना बना रही हैं, अगर आप पीएम मोदी के करीब आए तो रवींद्र वायकर, अनिल परब, प्रताप सरनाइक और उनके परिवारों जैसे नेताओं की पीड़ा समाप्त हो जाएगी।”

    सभी को अपनी पार्टी का विस्तार करने का हक़ 

    शिवसेना प्रवक्ता और राज्यसभा सांसद संजय राउत ने कहा, “कल शिवसेना का 55वां स्थापना दिवस था। इस अवसर पर सीएम ने बताया कि आने वाले दिनों में पार्टी की क्या भूमिका रहेगी। उन्होंने ये भी बताया कि महाराष्ट्र में जो अकेले चुनाव लड़ने की बात कर रहें, अगर वो ऐसा करेंगे तो हम क्या ऐसे ही बैठे रहेंगे? जिसे लड़ना है वो लड़े।”

    उन्होंने कहा, “शिवसेना ने राजनीतिक लड़ाई अपने ताकत पर लड़ी है। चाहे चुनाव में गठबंधन हो या न हो, लेकिन लड़ाई अपने ताकत पर ही लड़ी जाती है।”

    ज्ञात हो कि, जब से दिल्ली में शिवसेना प्रमुख ठाकरे और पीएम मोदी की मुलाकात हुई है। उसके बाद से महाराष्ट्र की राजनीति गरमाई हुई है। एक ओर जहां शिवसेना का फिर से भाजपा के साथ गठबंधन करने की चर्चा शुरू है। वहीं दूसरी तरफ सरकार में शामिल कांग्रेस आगामी सभी चुनाव अपने दम लड़ने का ऐलान कर चुकी है। महाराष्ट्र कांग्रेस प्रमुख नाना पटोले ने पिछले दिनों ऐलान करते हुए हुआ कहा था क, “कांग्रेस कार्यकर्ता खुद का मुख्यमंत्री चाहते हैं, इसलिए अब सभी चुनाव हम अपने बलबूते लड़ेंगे।”