Ramdas Athawale

  • शरद पवार को बताया था महाराष्ट्र का कोरोना

मुंबई. राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के प्रमुख शरद पवार पर भाजपा विधायक गोपीचंद पडलकर ने आपत्तिजनक टिपण्णी की। जिसके बाद महाराष्ट्र में भाजपा पर रांका हमलावर है। बयान के विरोध में रांका जगह जगह आंदोलन कर रही है और पडलकर को माफ़ी मांगने की मांग कर रही हैं। वहीं भाजपा ने भी पडलकर के इस बयान को गलत बताया हैं।

दरअसल कुछ दिन पहले पडलकर ने शरद पवार के खिलाफ आपत्तिजनक टिपण्णी की थी। जिसमें इन्होने कहा था कि शरद पवार महाराष्ट्र के लिए एक कोरोना के वायरस के समान है जो कभी भी धनगर समाज का कल्याण नहीं होने देंगे। उन्हें सिर्फ धनगर समाज के आरक्षण को लेकर सिर्फ राजनीति करनी है और कुछ नहीं।

भाजपा विधायक के इस बयान पर केंद्रीय मंत्री और आरपीआई के अध्यक्ष रामदास अठावले ने भी अपनी प्रतिक्रिया दी हैं। उन्होंने कहा कि “शरद पवार महाराष्ट्र में एक वरिष्ठ नेता हैं। पूरे महाराष्ट्र में उनका सम्मान है। उनके बारे में गोपीचंद पडलकर ने जो बयान दिया है वह अनुचित रूप से अपमानजनक है। एक दूसरे का सम्मान करना महाराष्ट्र की परंपरा है। इसलिए, पडलकर को अपना बयान वापस लेना चाहिए।”

केंद्रीय मंत्री ने कहा शरद पवार और मैं राजनीतिक रूप से अलग हैं। मैं उनके साथ नहीं हूं। मेरा राजनीतिक गठबंधन भाजपा के साथ है। हमारी पार्टी अलग हैं लेकिन मैंने हमेशा शरद पवार के लिए सम्मान दिखाने की कोशिश की है। उन्होंने कहा कि शरद पवार जैसे वरिष्ठ नेता के बारे में अपमानजनक टिप्पणी करना गलत है क्योंकि उनका योगदान बहुत बड़ा है और यह महाराष्ट्र की गौरवशाली परंपरा का अपमान है।