कारोबारी गतिविधियां शुरू होने के साथ तेजी से हो रहा पुनरूद्धार: नोमुरा

    मुंबई: कोविड महामारी (Covid Pandemic) की दूसरी लहर (Second Wave)के बाद आर्थिक पुनरूद्धार(Economic Revival) तेजी से हो रहा है और कारोबारी गतिविधियां अब लगभग महामारी पूर्व स्तर पर आ गयी हैं।जापान (Japan) की ब्रोकरेज कंपनी नोमुरा ने सोमवार को एक रिपोर्ट में यह कहा।

    नोमुरा इंडिया व्यापार प्रारंभ सूचकांक (नोमुरा इंडिया रिजम्पशन इंडेक्स -एनआईबीआरआई) रविवार को समाप्त सप्ताह में बढ़कर 96.4 पहुंच गया जो इससे पिछले सप्ताह में 94.9 था। और यह महामारी पूर्व स्तर से केवल 3.6 प्रतिशत अंक कम है। लोगों की आवाजाही से जुड़े संकेतक जैसे गूगल कार्य स्थल और खुदरा तथा मनोरंजन को लेकर आवाजाही से जुड़े सूचंकांकों में सुधार हुआ है और वे क्रमश: 2.4 और 5.1 प्रतिशत रहे।

    बिजली मांग इससे पिछले सप्ताह महामारी पूर्व स्तर से 1.4 प्रतिशत की वृद्धि के बाद 2.8 प्रतिशत नीचे आ गयी। श्रम भागीदारी दर 40.4 रही जो इससे पहले 40.6 प्रतिशत थी।

    ब्रोकरेज कंपनी के अनुसार, ‘‘जून के जो मासिक आंकड़े हैं, वे मई में निम्न स्तर से तीव्र गति से यानी वी आकार (V) में वृद्धि का संकेत देते हैं।” रिपोर्ट के अनुसार जुलाई के पहले पखवाड़े में जीएसटी ई-वे बिल 2.82 करोड़ रहा जो जून में 2.92 करोड़ था। रेल माल ढुलाई राजस्व स्थिर रहा और बिजली मांग कुछ नरम हुई है। लेकिन इसका कारण मौसमी है। कारोबारी गतिविधियां बनी हुई हैं।

    ब्रोकरेज कंपनी के अनुसार जुलाई में अबतक टीकाकरण की गति धीमी रही है। जून में यह औसत 38 लाख प्रतिदिन था जो अब 36 लाख प्रतिदिन पर आ गया है। वहीं संक्रमण के मामले प्रति दिन लगभग 39,000 के ऊंचे स्तर पर बने हुए हैं।   नोमुरा ने आगाह करते हुए कहा है कि जुलाई से आवाजाही बढ़ी है और व्यापक टीकाकरण का लक्ष्य अभी दूर है। ऐसे में भारत की वृद्धि के पुनरूद्धार के रास्ते में प्रमुख जोखिम इस अवधि के दौरान तीसरी लहर का खतरा है। (एजेंसी)