Sangram Thopte

    मुंबई. महाराष्ट्र विधानसभा के नए अध्यक्ष  के चुनाव को लेकर सरगर्मी तेज हो गई है। महाराष्ट्र विकास आघाडी सरकार में यह पद कांग्रेस के पास है। ऐसे में इस बार के चुनाव (Election) में कांग्रेस (Congress) का ही कोई विधायक विधानसभा अध्यक्ष (Assembly Speaker) के लिए उम्मीदवार होगा। सूत्रों के मुताबिक़, कांग्रेस के अन्दर इस पद के लिए भोर विधानसभा सीट से 3 बार के विधायक संग्राम थोपटे (MLA Sangram Thopte) का नाम फाइनल हो चुका है। 

    जल्द ही उनके नाम का औपचारिक ऐलान किया जाएगा। इस बार कोरोना के मद्देनजर महाराष्ट्र विधान मंडल का मानसून सत्र सिर्फ दो दिनों के लिए 5 और 6 जुलाई को आयोजित किया गया है। इन सत्र के दौरान विधानसभा अध्यक्ष के लिए चुनाव कराए जाने की पूरी संभावना है। 

    कौन हैं संग्राम थोपटे

    • संग्राम थोपटे पुणे के भोर निर्वाचन क्षेत्र से कांग्रेस विधायक हैं
    • तीन बार भोर निर्वाचन क्षेत्र से विधायक चुने जा चुके हैं
    • महाराष्ट्र विकास आघाडी सरकार में मंत्री पद के थे दावेदार, अंतिम समय में पत्ता कटा
    • मंत्री न बनाए जाने पर समर्थकों ने पुणे कांग्रेस भवन पर बोला था हमला
    • थोपटे के पिता अनंतराव थोपटे गांधी परिवार के करीबी रहे हैं
    • 1999 में अनंतराव के चुनाव प्रचार के लिए कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी खुद भोर विधानसभा पहुंची थी।

    अन्य नेताओं के नाम पर भी चर्चा

    कांग्रेस के अंदर विधानदभा अध्यक्ष के लिए संग्राम थोपटे के अलावा उर्जा मंत्री नितिन राउत और मदद व पुनर्वसन मंत्री विजय वडेट्टीवार के नाम की भी चर्चा है। ऐसा भी कहा जा रहा है कि राउत को विधानसभा अध्यक्ष बना कर उर्जा मंत्री के पद पर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष नाना पटोले को काबिज किया जा सकता है। हालांकि इस बात की संभावना कम है कि राउत कैबिनेट मंत्री का पद छोड़ कर विधानसभा अध्यक्ष बनने के लिए राजी होंगे। राउत राज्य में दलित नेताओं का एक बड़ा चेहरा हैं। ऐसे में उनसे मंत्री पद छीन कर कांग्रेस अपने दलित वोट बैंक को नाराज नहीं करना चाहेगी। पूर्व मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण के भी विधानसभा अध्यक्ष पद में इंटरेस्ट होने की बात कही जा रही है। हालांकि राहुल गांधी के विरोधी खेमे में शामिल होने की वजह से उनकी राह मुश्किल दिखाई पड़ रही है।    

    कांग्रेस का होगा विधानसभा अध्यक्ष

    इस सत्र में विधानसभा के अध्यक्ष का चुनाव किया जाएगा और अध्यक्ष कांग्रेस का होगा। यह सरकार मजबूत है। सरकार दो साल से चल रही है, सरकार भविष्य में भी अच्छी चलेगी। महाविकास गठबंधन में कोई मतभेद नहीं हैं। -बालासाहेब थोरात, राजस्व मंत्री

    विधानसभा में संख्या बल

    महाविकास अघाड़ी की संख्या

    • शिवसेना – 56
    • एनसीपी – 53
    • कांग्रेस-43
    • तीनों दल एक साथ – 152
    • अघाड़ी का समर्थन करने वाली पार्टियां
    • बहुजन विकास अघाड़ी – 3
    • समाजवादी पार्टी – 2
    • प्रहार जनशक्ति पार्टी – 2
    • एमएसीपी – 1
    • शेकपा – 1
    • स्वाभिमानी पक्ष – 1
    • क्रांतिकारी शेतकारी पार्टी – १
    • निर्दलीय  – 8
    • कुल – 171

    विपक्ष की ताकत

    • भाजपा – 106
    • जनसुराज्य शक्ति – 1
    • राष्ट्रीय समाज पक्ष – 1
    • निर्दलीय – 5
    • कुल – 113
    • तटस्थ
    • महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना – 1
    • एमआईएम-2