संजय राउत ने कहा- कीचड़ उछालने पर लोगों के मन में गुस्सा पैदा हुआ, इसमें सरकार क्या करे

मुंबई: शिवसेना सैनिकों (Shivsena Worker) द्वारा पूर्व नौसेना अधिकारी मदन शर्मा की पिटाई का मामला तूल पकड़ता जा रहा है. पीड़ित के साथ साथ विपक्ष लगातार मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (CM Uddhav Thackarey) और सरकार पर लगातार हमलावर है. इसी को लेकर शिवसेना सांसद संजय राउत (Sanjay Raut) ने कहा, “आप जिस तरह से बात करते हो, कीचड़ उछालते हो और उसके बाद अगर लोगों के मन में गुस्सा पैदा होता है फिर आप उसे सरकार से क्यों जोड़ रहे हो. अगर किसी ने हमला किया है तो हमें पूछ कर तो नहीं किया है न. इतना बड़ा महाराष्ट्र है ये किसी के भी साथ हो सकता है.”

शिवसेना नेता ने कहा, “महाराष्ट्र (Maharashtra) एक बड़ा राज्य है. ऐसा कुछ भी किसी के साथ भी हो सकता है. क्या आप जानते हैं कि यूपी में कितने पूर्व सैनिकों पर हमले हुए हैं? लेकिन, रक्षा मंत्री ने उन्हें कभी फोन किया. हमारे सरकार का मानना ​​है कि किसी भी निर्दोष व्यक्ति पर हमला नहीं किया जाना चाहिए.”

उन्होंने कहा, “महाराष्ट्र में कानून का हमेशा सम्मान किया जाता है. आरोपियों को तुरंत गिरफ्तार कर लिया गया, चाहे वे किसी भी पार्टी से जुड़े हों.”

ज्ञात हो कि शुक्रवार को शिवसेना के कार्यकर्ताओं ने मुख्यमंत्री ठाकरे का कार्टून शेयर करने पर पूर्व नौसेना अधिकारी पर हमला कर दिया था. इस हमले में नौसेना अधिकारी जो काफी चोट आई है. जिसके बाद उन्हें अस्पताल में भारती कराया गया. 

उद्धव ठाकरे सरकार नहीं चला सकते तो इस्तीफा दें
इसके पूर्व पीड़ित मदन शर्मा ने मुख्यमंत्री पर हमला किया. उन्होंने कहा, “मैं देख रहा हूं कि बॉम्बे में किस तरह का प्रशासन चल रहा है, इसको देख कर सिर्फ बंबई के लोग नहीं पूरे महाराष्ट्र और भारत के लोग परेशान हैं. मैं आग्रह करूंगा मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को कि अगर आपकी सरकार संविधान नहीं चला सकती है तो आप इस्तीफा दे.”

कंगना रनौत के मुद्दे पर बात करना बंद कर दिया
कंगना पर संजय राउत ने कहा, “हमने कंगना रनौत (Kangana Ranaut) के मुद्दे पर बात करना बंद कर दिया है. लेकिन हम इस मामले में सब कुछ और हर कार्य को ध्यान में रखते हुए कर रहे हैं. हम समझेंगे कि कौन सी राजनीतिक पार्टी और कौन सा व्यक्ति, क्या सोचता है, हमारे महान राज्य के बारे में.”

भारत-चीन सीमा मुद्दों सहित जीएसटी पर करूँगा बात 
कल से शुरू हो रहे सत्र पर राज्यसभा सांसद ने कहा, “आगामी संसदीय सत्र में, मैं भारत-चीन सीमा मुद्दों, जीएसटी, अन्य चीजों के बीच बढ़ती बेरोजगारी पर चर्चा करना चाहूंगा.”