sanjay-raut-mamata

    मुंबई: पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव (West Bengal Assembly Elections) में प्रतिद्वंद्वी भाजपा (BJP) के साथ कड़े मुकाबले के बाद तृणमूल कांग्रेस के पास ही सत्ता बरकरार रहने के आसार नजर आने के उपरांत शिवसेना के सांसद संजय राउत (Sanjay Raut) ने रविवार को ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) को ‘बंगाल की बाघिन’ बताते हुए उनकी प्रशंसा की।

    राउत ने कहा, ‘‘भाजपा ने कठिन परिश्रम किया और पश्चिम बंगाल में चुनावों में काफी पैसा लगाया लेकिन बनर्जी को हराना आसान नहीं है।” पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के लिये चल रही मतगणना के रुझानों में तृणमूल कांग्रेस को बड़ी जीत मिलने के संकेतों के बीच राज्यसभा सदस्य ने ट्वीट किया, ‘‘बंगाल की बाघिन को बधाई।”

    राउत ने यहां संवाददाताओं से बातचीत में यह भी कहा कि अब सभी लोग राजनीतिक आंकड़ों के बजाय कोविड-19 के आंकड़ों में वृद्धि से ज्यादा चिंतिंत है। चुनाव आयोग की वेबसाइट से हासिल ताजा जानकारी के मुताबिक पश्चिम बंगाल में तृणमूल कांग्रेस दो सीटें जीत चुकी है और 207 सीटों पर आगे चल रही है जबकि भाजपा को 80 सीटों पर बढ़त है।

    विधानसभा की 292 सीटों के लिए चुनाव हुए थे। महाराष्ट्र में कांग्रेस एवं राकांपा के साथ गठबंधन में सत्तासीन में शिवसेना ने पश्चिम बंगाल चुनाव नहीं लड़ा था बल्कि उसने बनर्जी को अपना समर्थन दिया था। मतगणना के ताजा रूझानों के अनुसार, तृणमूल कांग्रेस पश्चिम बंगाल में सत्ता में फिर से लौटने की ओर उन्मुख है जबकि असम में भाजपा और केरल में वाम लोकतांत्रिक मोर्चा की वापसी के आसार हैं।

    रूझानों से यह भी संकेत मिला है कि तमिलनाडु में अन्नाद्रमुक की सत्ता में वापसी की संभावना नहीं है, उसकी विरोधी पार्टी द्रमुक सत्ता की ओर अग्रसर है। केंद्रशासित प्रदेश पुडुचेरी में एनआईएनआरसी के नेतृत्व वाले राजग के कदम सत्ता की ओर बढ़ रहे हैं। राउत ने कहा कि पुडुचेरी और तमिलनाडु छोड़कर किसी भी अन्य राज्य में राजनीतिक परिदृश्य में बदलाव नहीं होगा।

    राज्यसभा सदस्य ने कहा, ‘‘हमें ममता दीदी को बधाई देनी है कि उन्होंने भाजपा की चुनौती को स्वीकार किया और वह एक ही सीट से चुनाव लड़ीं। भाजपा ने उन्हें हराने के लिये कठिन परिश्रम किया और काफी धन लगाया लेकिन ममता को पराजित करना आसान नहीं है।” शिवसेना प्रवक्ता ने कहा, ‘‘हमें कोई शक नहीं है कि पार्टी पश्चिम बंगाल में अगली सरकार बनाएगी।