बीजेपी के खिलाफ गरजे उद्धव, कहा-“हिम्मत है तो सरकार गिराकर दिखाओ”

  • बाबरी विध्वंस मामले में दुम दबाने वाले हमसे कर रहे सवाल
  • जीएसटी रद्द करने के लिए मुख्यमंत्रियों से एक जुट होने का आह्वान

मुंबई. मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने भाजपा पर हमला बोलते हुए कहा कि तारीख पर तारीख देने की बजाय हिम्मत है तो सरकार गिराकर दिखाओ. हिंदुत्व के मुद्दे पर उन्होंने कहा कि बाबरी विध्वंस मामले में दुम दबाने वाले लोग आज हमसे सवाल कर रहे हैं.हिंदुत्व पर सवाल करने वालों को आत्म चिंतन करने की जरुरत है.मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने भाजपा एवं केंद्र सरकार पर चौतरफा हमला करते हुए जीएसटी रद्द करने की भी वकालत की.

शिवसेना की दशहरा रैली को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने महाराष्ट्र को बदनाम करने वालों को भी आड़े हाथों लिया. उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र को नशेड़ियों का राज्य होने का माहौल बनाया गया.हमारे आंगन में तुलसी का का वृंदावन है, गांजा का नहीं.उन्होंने कहा कि हम किसी के पीठ पर वार नहीं करते हैं, लेकिन यदि कोई पीठ में खंजर घोंपने की कोशिश करता है तो उसकी आंत निकाला लेते हैं.दशहरा रैली के जरिए उद्धव ने बिहार के मतदाताओं से भाजपा को हराने की भी अपील की.

ठाकरे ने जीएसटी पद्धति रद्द करने के लिए देश के सभी मुख्यमंत्रियों से एक जुट होने के लिए अपील करते हुए कहा कि केंद्र सरकार हमारा पैसा नहीं दे रही है. पुरानी कर प्रणाली को फिर से अमल में लाया जाना चाहिए जिससे खुद के पैसे के लिए किसी के आगे खड़ा होने की जरुरत न पड़े. राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी का नाम न लेते हुए उन पर हमला करते हुए ठाकरे ने कहा कि काली टोपी पहनने वाले को हिंदुत्व के बारे में सरसंघ चालक ने क्या बोला है उससे सीखना चाहिए.

राज्य में महाविकास आघाड़ी सरकार बनने के बाद पहली बार शिवसेना की दशहरा रैली को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने न केवल सरकार की उपलब्धियों को गिनाया बल्कि केंद्र की बीजेपी सरकार एवं विपक्षियों पर जम कर हमला किया. कोरोना संकट की वजह से शिवसेना की दशहरा रैली शिवाजी पार्क की बजाय स्वतंत्रता संग्राम सेनानी सावरकर भवन के सभागृह में आयोजित किया गया था.