विधान परिषद की छह सीटें मुख्यमंत्री, भाजपा के लिए बनी सम्मान की लड़ाई

मुंबई/पुणे/नागपुर. महाराष्ट्र विधान परिषद (Maharashtra Legislative Council) की छह सीटों के लिए होने वाला चुनाव (Election) राज्य की सत्तारूढ़ महा विकास अघाड़ी सरकार (Mahavikas Aghadi Government) के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Chief Minister Uddhav Thackeray) और विपक्षी दल भाजपा (BJP) के लिए सम्मान की लड़ाई बन गया है। तीन स्नातक सीटों, दो शिक्षक और एक स्थानीय निकाय निर्वाचन सीट के लिए मंगलवार को मतदान होगा। मतगणना बृहस्पतिवार को होगी।

कोरोना वायरस महामारी के बीच हाल ही में अपना एक वर्ष का कार्यकाल पूरी कर चुकी महा विकास अघाड़ी (एमवीए) सरकार चुनाव जीतने के लिए पूरे जोर-शोर से जुटी हुई है, जिसमें शिवसेना, कांग्रेस एवं राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी शामिल है। वहीं, दूसरी तरफ विपक्षी दल भाजपा की तरफ से देवेंद्र फडणवीस, चंद्रकांत पाटिल और प्रवीण दारेकर जैसे वरिष्ठ नेता इन सीटों पर अपने उम्मीदवारों की जीत सुनिश्चित करने के लिए हर संभव प्रयास कर रहे हैं।

कांग्रेस तीन सीटों पर मैदान में है जबकि शिवसेना एक और एनसीपी के दो उम्मीदवार किस्मत आजमा रहे हैं। विपक्ष कोरोना वायरस महामारी से निपटने, लॉकडाउन के कारण प्रभावित आर्थिक हालात और भारी बारिश के कारण फसलों को हुए नुकसान की वजह से परेशानी उठा रहे किसानों के मुद्दों पर एमवीए सरकार को घेर रहा है। पुणे संभाग स्नातक सीट, नागपुर संभाग स्नातक सीट, औरंगाबाद संभाग स्नातक सीट, अमरावती संभाग शिक्षक सीट, पुणे संभाग शिक्षक सीट और धुले-नंदूरबार स्थानीय निकाय निर्वाचन सीट के लिए मंगलवार को मतदान होगा। इनमें से धुले-नंदूरबार सीट इसके निवर्तमान विधान परिषद सदस्य अंबरीश पटेल के कांग्रेस से इस्तीफा देकर भाजपा में शामिल होने के चलते रिक्त हुई है जबकि अन्य पांच सीटों के सदस्यों का कार्यकाल 19 जुलाई को पूरा हो चुका है। (एजेंसी)