विरोधियों से निपटने के लिए मेरे नाम का इस्तेमाल करना बंद करें: दमानिया ने खडसे को चेतावनी दी

मुंबई. सामाजिक कार्यकर्ता अंजलि दमानिया ने बृहस्पतिवार को महाराष्ट्र के पूर्व मंत्री एकनाथ खडसे पर अपने विरोधियों के साथ राजनीतिक विवादों का निपटान करने के लिए उनका नाम घसीटने का आरोप लगाया और भविष्य में ऐसा करने को लेकर उन्हें चेतावनी दी।

खडसे ने बुधवार को भाजपा से इस्तीफा दे दिया और वे शुक्रवार को राकांपा में शामिल होने वाले हैं। उन्होंने भाजपा छोड़ने के बाद पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस पर उनके साथ “गंदी राजनीति” करने का भी आरोप लगाया।

खडसे ने यह भी आरोप लगाया था कि उनके भाषण को लेकर दमानिया ने उनके खिलाफ छेड़छाड़ की शिकायत दर्ज की थी और पुलिस ने फडणवीस के निर्देश पर उस संबंध में मामला दर्ज किया था। मुंबई में पत्रकारों से बात करते हुए दमानिया ने कहा, “मेरी लड़ाई हमेशा भ्रष्टाचार के खिलाफ रही है और मैं किसी भी राजनीतिक नेता की कठपुतली नहीं हूं। अपने विरोधियों के खिलाफ राजनीतिक विवादों का निपटान करने के लिए मैंने खडसे को मेरे नाम का इस्तेमाल करने को लेकर चेतावनी दी। मैं उन्हें सबक सिखाने के लिए काफी हूं।”

उन्होंने कहा, “खडसे ने मेरे खिलाफ कथित रूप से अभद्र भाषा का इस्तेमाल किया था, जिसके बाद मैंने सितंबर 2017 में मुंबई के वकोला पुलिस थाने में शिकायत दर्ज कराई थी। पुलिस ने मामला दर्ज किया था, जिसे बाद में मुक्तिनगर पुलिस थाने (जलगांव जिले) में स्थानांतरित कर दिया गया था क्योंकि खडसे ने वहां अपना बयान दर्ज कराया था।”

उन्होंने कहा, “मैं अपने बयान दर्ज करने के लिए पुलिस थानों और मजिस्ट्रेट कार्यालय भी गई। लेकिन तत्कालीन मुख्यमंत्री फडणवीस की गंदी राजनीति के कारण इस पर कोई कार्रवाई नहीं की गई थी। लेकिन मैं फिर से दोहराना चाहती हूं कि मेरा व्यक्तिगत तौर पर फडणवीस से कोई लेना देना नहीं है।”

उन्होंने आरोप लगाया कि खडसे के खिलाफ जांच को रोकने के लिए फडणवीस समान रूप से जिम्मेदार थे। दमानिया ने यह भी आरोप लगाया कि खडसे ने झूठ बोला था कि उनके खिलाफ छेड़छाड़ के आरोप हटा लिए गए।

दमानिया ने कहा, “मेरी जानकारी के अनुसार, अभी तक कोई भी एफआईआर रद्द नहीं की गई है क्योंकि आरोप पत्र अभी तक दायर ही नहीं किया गया है।” इस बीच, जब खडसे से दमानिया के आरोपों के बारे में पूछा गया, तो उन्होंने कहा कि वह शुक्रवार को इस पर टिप्पणी करेंगे। (एजेंसी)