खडसे का‌ कथन अर्धसत्य – फडणवीस की प्रतिक्रिया

औरंगाबाद. “पार्टी छोडने के लिए किसी को विलन ठहरना होता है. एकनाथ खडसे ने पार्टी छोड़ते समय मुझे विलन ठहराया है. उन्हें मुझसे कोई नाराजगी थी तो उन्हें इसकी शिकायत वरिष्ठों को करनी चाहिए थी. खडसे ने पार्टी छोडते समय जो  बातें कहीं वह अर्धसत्य है.” यह प्रतिक्रिया राज्य के विरोधी पक्ष नेता तथा पूर्व मुख्यमंत्री  देवेन्द्र फडणवीस ने दी.

अतिवृष्टि के चलते मराठवाडा में खेती उत्पादन माल के हुए नुकसान का जायजा लेने फडणवीस मराठवाडा के दौरे पर हैं. बुधवार की शाम देेवेन्द्र फडणवीस ने औरंगाबाद पहुंचकर  प्रेस वार्ता में किसानों की दुर्देशा के लिए ठाकरे सरकार को दोषि ठहराया. जब  उनसे खडसे के पार्टी छोडने के मुददे पर सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा कि, खडसे के पार्टी छोडने पर मुझे कोई प्रतिक्रिया नहीं देनी है. सही समय आने पर मैं अपनी बात रखुंगा. खडसे ने भाजपा से दिया इस्तीफा दुर्भाग्य है.

खडसे के भाजपा छोडने से पार्टी पर इसका क्या असर होगा? यह सवाल पूछने पर पूर्व सीएम ने कहा,  “भाजपा बहुत बड़ी पार्टी है. पार्टी में किसी के आने से और जाने से पार्टी का काम थमता नहीं है. खडसे के जाने से भाजपा को जलगांव जिले में भी कोई असर नहीं होगा. जलगांव जिले में भाजपा काफी मजबूत है. खडसे के साथ  एक भी विधायक पार्टी नहीं छोडेगा. खडसे पर महिला विनयभंग को लेकर जो मामला दर्ज हुआ था, उस पर तीन दिन तक मीडिया ने खबरें चलाई थी. ऐसे में उस पर प्रतिक्रिया देना उचित नहीं होगा. अंत में फडणवीस ने जयंत पाटिल द्वारा भाजपा के कई विधायक एनसीपी में आने के दिए बयान की खिल्ली उड़ाते हुए  कहा कि भाजपा का  एक भी विधायक पार्टी नहीं छोडेगा.