This time in the Navbharat e-discussion, meet Mr. Balasaheb Thorat, the tall leader of Maharashtra

मुंबई. प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष और राजस्व मंत्री बालासाहब थोराट (Balasaheb Thorat) ने कहा, “केंद्र सरकार (Central Government) किसानों (Farmer) के खिलाफ फैसले ले रही है। इसका कांग्रेस (Congress) द्वारा विरोध किया जा रहा है। जब तक केंद्र सरकार किसानों के खिलाफ बनाए ‘काले कानून’ पीछे नहीं लेती तब तक कांग्रेस का यह संघर्ष जारी रहेगा।” साथ ही कांग्रेस द्वारा #SpeakUpForFarmers यह ऑनलाइन अभियान चलाया जा रहा है।

थोराट ने कहा कि, कृषि सुधार विधेयक को सभी पार्टियों के विरोध के बावजूद केंद्र की बीजेपी सरकार ने बिना चर्चा के विपक्षी सदस्यों को निलंबित किया। कृषि और श्रम पर बिल पारित किए। केंद्र सरकार लगातार लोकतंत्र और संसदीय नियमों के मूल्यों का उल्लंघन कर रही है, यह बहुत निंदनीय है।

उन्होंने कहा, कांग्रेस किसानों के साथ आंदोलन कर रही है। कृषि उपज मंडी समितियों को और मजबूत किया जाए और नए कानून में न्यूनतम बुनियादी मूल्य के प्रावधान को शामिल किया जाए। इन मांगों के लिए कांग्रेस राज्यव्यापी आंदोलन और रैलियाँ करेगी। साथ ही सोमवार को राज्यपाल से मुलाकात करके इस संबंध में निवेदन दिया जायेगा। इसके अलावा एक करोड़ हस्ताक्षर वाला निवेदन भी राष्ट्रपति को भेजा जायेगा।