Child Corona, PTI
File Photo : PTI

    अहमदनगर. कोरोना की दूसरी लहर (Corona Second Wave) से तबाही थमी भी नहीं कि तीसरी लहर (Corona Third Wave) ने टेंशन बढ़ा दिया। महाराष्ट्र (Maharashtra) के अहमदनगर (Ahmednagar) में कोरोना की तीसरी लहर (Third Wave of Corona) की दस्तक के संकेत मिलते दिखाई दे रहे हैं। अहमदनगर में 8881 बच्चों को कोरोना ने अपनी चपेट में ले लिया है, जिससे शहर में हड़कंप मच गया है। यह डरावने आंकड़े आने के बाद जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग का टेंशन बढ़ गया है। विशेषज्ञ पहले ही बता चुके हैं कि कोरोना की तीसरी लहर बच्चों के लिए ज्यादा खतरनाक होगी। इससे पहले बच्चों में संक्रमण के ज्यादा मामले राजस्थान में दर्ज हुए थे।

    अहमदनगर में तीसरी लहर के आने के संकेत मिले हैं। जिले में मई महीने में 77 हजार 929 कोविड पॉजिटिव केस सामने आए। इनमें से 18 साल से कम उम्र के कोरोना पॉजिटिव बच्चों की संख्या 8881 है। इनमें 0 से 1 उम्र के 85 बच्चे, 12 साल तक के 2694 बच्चे और 18 साल तक के 6102 बच्चे कोरोना पॉजिटिव पाए गए। इस बात की पुष्टि जिलाधिकारी राजेंद्र भोसले ने की।

    जिल्हाधिकारी मौजूदा हालात पर चिंता जताते हुए जिला अस्पताल में कोरोना संक्रमित बच्चों के लिए स्पेशल वार्ड तैयार करने का आदेश दिया है। वहीं जिला प्रशासन ने संकट को ध्यान में रखते हुए तत्परता के साथ टास्क फोर्स का गठन किया है।

    उधर स्थानीय एनसीपी विधायक संग्राम जगताप ने मौजूदा हालात पर चिंता जताई हैं। उन्होंने कहा कि दूसरी लहर के दौरान, बिस्तरों और ऑक्सीजन की कमी थी। इसलिए, हमें तीसरी लहर के दौरान इससे बचने के लिए सभी जरूरी कदम उठाने की जरूरत है। और खुद को पूरी तरह से तैयार करने की जरूरत है।

    गौरतलब है कि राज्य में कोरोना के मामलों में भारी गिरावट आई है। हालांकि राज्य में लॉकडाउन 15 जून तक बढ़ाया गया है। नेकिन सरकार द्वारा नियमों में थोड़ी ढील मिलने वाली है। जिलों में कोरोना मामलों के आधार पर राहत और प्रतिबंध लागू रहने वाला है।