awhaad

ठाणे. महाराष्ट्र में धर्मस्थलों को फिर से खोलने के संबंध में राज्यपाल बी एस कोश्यारी के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को लिखे पत्र पर जारी विवाद के बीच राज्य के मंत्री जितेंद्र आव्हाड ने पूछा है कि क्या राज्यपाल इसी तरह का पत्र गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत को भी लिखेंगे। कोश्यारी गोवा के भी राज्यपाल हैं।

राज्यपाल ने कोविड-19 के कारण बंद रखे गए धर्मस्थलों को पुन: खोलने के लिए दबाव बनाया था और पूछा था कि क्या शिवसेना अध्यक्ष अचानक से धर्मनिरपेक्ष हो गए हैं। इसके बाद कोश्यारी और ठाकरे के बीच जुबानी जंग छिड़ गई। राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी(राकांपा) नेता आव्हाड ने बुधवार को एक ट्वीट में कहा कि कोश्यारी गोवा के भी राज्यपाल हैं, जहां भाजपा की सरकार है।

उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘वहां भी (गोवा में) मंदिर बंद हैं। क्या राज्यपाल मंदिरों के प्रति अपना प्रेम दिखाते हुए गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत को भी पत्र लिखेंगे?” धर्मस्थलों को पुन: खोलने के बाबत राज्यपाल का पत्र मिलने के बाद ठाकरे ने जवाब में उन्हें कहा था कि वह इस बारे में विचार करेंगे और साथ ही यह भी कहा कि उन्हें अपने हिंदुत्व के बारे में राज्यपाल से प्रमाण पत्र लेने की जरूरत नहीं है। राकांपा अध्यक्ष शरद पवार ने बाद में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर राज्यपाल की ओर से ठाकरे को लिखे पत्र में ‘‘असंयमित भाषा” का इस्तेमाल करने का आरोप लगाते हुए इस पर हैरानी जताई।