मराठा आरक्षण मुद्दे पर जरूरत पड़ी तो इस्तीफा दूंगा – उदयनराजे

सतारा. भारतीय जनता पार्टी से राज्य सभा सदस्य उदयन राजे भोसले ने शुक्रवार को कहा कि मराठा आरक्षण के मुद्दे पर वह इस्तीफा तक देने को तैयार हैं। गत सप्ताह, उच्चतम न्यायालय ने मराठा समुदाय को नौकरी और शिक्षा में आरक्षण देने वाले महाराष्ट्र सरकार के कानून पर रोक लगा दी थी और इस कानून को चुनौती देने वाली याचिकाओं को संविधान पीठ को भेज दिया था।

सतारा में भोसले ने संवाददाताओं से कहा, “मैंने इस मुद्दे (मराठा आरक्षण) पर कोई राजनीति नहीं की। अगर मुझे इस मुद्दे पर इस्तीफा देना पड़ेगा तो मैं दे दूंगा।” उन्होंने कहा कि यदि किसी अन्य समुदाय के साथ अन्याय होगा तब भी वह इस्तीफा दे देंगे। छत्रपति शिवाजी महाराज के वंशज भोसले ने कहा, “जब कुछ होना नहीं है तो सत्ता में रहने का क्या अर्थ है?” उन्होंने कहा, “मैं यह किसी भी समुदाय के लिए करूंगा, चाहे वह मराठा आरक्षण हो या धांगर आरक्षण।”