विश्वविख्यात समाजसेवी स्व. बाबा आमटे की पोती शीतल की संदिग्ध अवस्था में मौत

  • आत्महत्या या हत्या को लेकर अटकलों का बाजार गर्म
  • हाईप्रोफाईल मामले को लेकर सभी स्तब्ध

चंद्रपुर/वरोरा. विश्वविख्यात समाज सेवी स्व. बाबा आमटे की पोती, आनंदवन के महारोगी सेवा समिति की मुख्य कार्यकारी अधिकारी डा. शीतल आमटे करजगी 39 की आज सोमवार की दोपहर संदिग्ध अवस्था में मौत होने से पूरे जिले भर में सनसनी फैल गई. वरोरा शहर में इस हाईप्रोफाईल मामले को लेकर चर्चाओं का बाजार गर्म था. 

आनंदवन स्थित अपने बंगले में डा. शीतल को दोपहर 12.15 बजे गंभीर अवस्था में पाकर उसे तुरंत एम्बूलैस में डालकर वरोरा उपजिला अस्पताल लेकर आया गया जहां उसे मृत घोषित किया गया. वरोरा उपजिला अस्पताल में पोस्टमार्टम एक्सपर्ट नहीं होने और मामला हाईप्रोफाईल होने से  उनका शव चंद्रपुर जिला अस्पताल पोस्टमार्टम के लिए रवाना कर दिया गया. इस बीच जिला पुलिस अधीक्षक अरविंद सालवे, वरोरा के उपविभागीय पुलिस अधिकारी डा. निलेश पांडे, पुलिस निरीक्षक दीपक खोब्रागडे आदि ने घटनास्थल पर पहुंचकर जायजा लिया और डा. शीतल आमटे का रूम सील कर दिया गया.

डा. शीतल आमटे-करजगी, डा. विकास आमटे एवं डा. भारती आमटे की पुत्री है. महान समाजसेवी बाबा आमटे द्वारा स्थापित महारोगी सेवा समिति की वे मुख्यकार्यकारी अधिकारी थी. उनके पति गौतम करजगी भी यहां प्रबंधक तौर पर निुयक्त है. उनका एक छह वर्षीय पुत्र है जबकि उनके ससुर शिरीष करजगी और सास सुहासिनी करजगी पुणे रहते थे जो कि सप्ताह भर पूर्व ही यहां आये हुए थे.

सूत्रों के अनुसार डा.शीतल आमटे-करजगी की दोपहर 12.15 अचानक तबीयत बिगडी, उन्होने उल्टी और पति को पास बुलाकर कुछ कहा उसके बाद उन्हें तुरंत एम्बूलैस में डालकर उपजिला अस्पताल रवाना किया गया परंतु अस्पताल पहुंचने से पूर्व उनकी मौत हो गई.

पारिवारिक विवाद के चलते चर्चाओं में थी

डा. शीतल आमटे-करजगी ने 20 नवंबर को फेसबुक लाईव पर अपने परिवारिक विवाद का जिक्र किया था और आधे घंटे के बाद उन्होने अपने विडिओ को डिलीट भी कर दिया था. जिसमें उन्होने अपने पारिवारिक सदस्यों पर गंभीर आरोप लगाये थे जिसका बाद में परिवार ने खंडन किया था. 

आज सुबह भी उन्होने अपने टिवटर अकाऊंट पर कुछ पेटिंग उतारकर कुछ दर्शाने का प्रयास किया था. वह कुछ दिनों से काफी मानसिक तनाव में थी. उसने जहरीला इंजेक्शन लेकर आत्महत्या की ऐसी संभावना जतायी जारही है.

हाईप्रोफाईल मामला होने से पुलिस पूरी गोपनीयता और सतर्कता बरत कर जांच पड़ताल कर रही है. पुलिस ने उनका रूम सील कर दिया है. पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद ही मामले की सच्चाई सामने आ सकती है ऐसा पुलिस का कहना है.