Chhagan Bhujbal

    मुंबई. महाराष्ट्र सरकार (Maharashtra) द्वारा नवी मुंबई अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे (Navi Mumbai International Airport) का नाम बाल ठाकरे (Bal Thackeray) के नाम पर रखे जाने की घोषणा किये जाने के एक दिन बाद एक वरिष्ठ मंत्री ने कहा कि शिवसेना के संस्थापक दिवंगत ठाकरे इसके बजाय इसका नाम आरजेडी टाटा के नाम पर रखने को तरजीह देते।

    दूसरी ओर वंचित बहुजन आघाड़ी (वीबीए) के नेता प्रकाश आंबेडकर (Prakash Ambedkar) ने कहा कि हवाई अड्डे का नाम क्षेत्र के किसान नेता दिवंगत डी बी पाटिल के नाम पर रखा जाना चाहिये। राकांपा नेता तथा खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री छगन भुजबल (Chhagan Bhujbal) ने कहा कि उन्हें बाल ठाकरे या डीबी पाटिल के नाम पर भी कोई आपत्ति नहीं है।

    शिवसेना के पूर्व नेता भुजबल ने कहा, ”मुझे बालासाहेब या डी बी पाटिल के नाम पर कोई ऐतराज नहीं है। इन मुद्दों को आम सहमति से सुलझाया जाना चाहिये।”

    भुजबल ने कहा, लेकिन यदि बाल ठाकरे जीवित होते तो ”वह हवाई अड्डे का नाम अपने नाम पर रखे जाने को पसंद नहीं करते और आरजेडी टाटा का नाम सुझाते। बालासाहेब ने मुंबई में स्थित वीटी स्टेशन के लिये (19वीं सदी के समाज सुधारक) नाना शंकरसेठ का नाम सुझाया था।”

    भुजबल ने कहा कि मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के पिता दिवंगत बालासाहेब ठाकरे विमानन क्षेत्र में टाटा और रेलवे में शकरसेठ के योगदान से अवगत थे। (एजेंसी)