Sensex

    मुंबई. शेयर बाजार (Share Market) में शुक्रवार को कारोबार की शुरुआत सकारात्मक रुख में हुई लेकिन बाजार इस बढ़त को बरकरार नहीं रख पाया और जल्द ही गिरावट में चला गया। सूचकांक में शामिल प्रमुख शेयरों एचडीएफसी, एचडीएफसी बैंक, आईसीआईसीआई बैंक और टीसीएस के शेयरों में गिरावट से सूचकांक 150 अंक से अधिक गिर गया।

    बंबई शेयर बाजार (बीएसई) का 30- शेयरों पर आधारित सेंसेक्स कारोबार के शुरुआती दौर में 158.99 अंक यानी 0.33 प्रतिशत गिरकर 48,531.81 अंक और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का निफ्टी सूचकांक 59.50 अंक यानी 0.40 प्रतिशत गिरकर 14,637 अंक पर आ गया।

    सेंसेक्स में शामिल शेयरों में महिन्द्रा एण्ड महिन्द्रा में सबसे ज्यादा गिरावट में रहा, वहीं ओएनजीसी, बजाज आटो, मारुति, टीसीएस, एचडीएफसी, एचडीएफसी बैंक और बजाज फाइनेंस के शेयरों में गिरावट रही। इसके विपरीत एशियन पेंट्स, डा. रेड्डीज लैब, टीसीएस, सन फर्मा और हिन्दुस्तान युनिलीवर के शेयर में बढ़त दर्ज की गई। इससे पहले बुधवार के कारोबार में सेंसेक्स 471.01 अंक यानी 0.96 प्रतिशत गिरकर 48,690.80 अंक और एनएसई का निफ्टी 154.25 अंक यानी 1.04 प्रतिशत गिरकर 14,696.50 अंक पर बंद हुआ था।

    शेयर बाजारों के शुरुआती आंकड़ों के मुताबिक इस दौरान विदेशी संस्थागत निवेशकों ने बाजार में 1,260.59 करोड़ रुपये के शेयरों के शुद्ध बिकवाली की। घरेलू शेयर बाजार बृहस्पतिवार को ईद-उल- फितर के मौके पर बंद रहे।  जियोजित फाइनेंसियल सविर्सिज के मुख्य निवेश रणनीतिकार वी के विजयकुमार ने कहा, ‘‘अमेरिका में अप्रैल के मुद्रास्फीति के आंकड़े 4.2 प्रतिशत पर उम्मीद से ज्यादा ऊंचे आने से अमेरिकी बाजारों में बिकवाली का जोर रहा। डाउ जोंस और नास्डैक में बुधवार को 2.7 प्रतिशत तक की गिरावट रही।”

    घरेलू बाजारों में कोविड-19 के आंकड़े अभी भी ऊंचे बने हुये हैं। कई राज्यों में लॉकडाउन को आगे बढ़ाया गया है। अनुमान लगाया जा रहा है कि इस स्थिति के चलते चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही के कंपनी परिणाम नीचे रह सकते हैं। एशिया के अन्य बाजारों की यदि बात की जाये तो शंघाई, हांग कांग, टोक्यो और सोल के बाजारों में मघ्यान्ह तक सकारात्मक रुख रहा। इस बीच अंतरराष्ट्रीय बाजार में ब्रेंट कच्चे तेल का दाम 0.42 प्रतिशत घटकर 66.77 डालर प्रति बैरल पर बोला गया।