Sensex

    मुंबई. वैश्विक बाजारों से सकारात्मक संकेत मिलने से स्थानीय शेयर बाजारों (Share Market) में भी मंगलवार को तेजी का रुख रहा। इन्फोसिस, रिलायंस इंडस्ट्रीज और एशियन पेंट्स जैसे प्रमुख शेयरों में बढ़त से कारोबार के शुरुआती दौर में सेंसेक्स 200 अंक से अधिक चढ़ गया। बंबई शेयर बाजार (BSE) का 30 शेयरों पर आधारित सेंसेक्स 274.03 अंक यानी 0.54 प्रतिशत बढ़कर 50,669.11 अंक और व्यापक आधार वाला नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का निफ्टी 75.10 अंक यानी 0.50 प्रतिशत बढ़कर 15,004.60 अंक पर पहुंच गया। सेंसेक्स में शामिल शेयरों में एशियन पेंट्स सबसे अधिक लाभ में रहा।

    इसमें करीब दो प्रतिशत की वृद्धि रही। इसके बाद टाइटन, अल्ट्राटेक सीमेंट, भारती एयरटेल, इन्फोसिस, रिलायंस इंडस्ट्रीज और महिन्द्र एण्ड महिन्द्रा में बढ़त रही। इसके विपरीत बजाज आटो, एनटीपीसी और स्टेट बैंक के शेयरों में गिरावट का रुख रहा। गत दिवस कारोबार की समाप्ति पर बीएसई सेंसेक्स 397 अंक यानी 0.78 प्रतिशत गिरकर 50,395.08 अंक और एनएसई का निफ्टी 101.45 अंक यानी 0.67 प्रतिशत गिरकर 14,929.50 अंक पर बंद हुआ था। सोमवार को विदेशी संस्थागत निवेशकों ने पूंजी बाजार में 1,101.35 करोड़ रुपये की शुद्ध बिकवाली की।

    जियोजित फाइनेंसियल सविर्सिज के मुख्य निवेश रणनीतिकार वी के विजय कुमार ने कहा, ‘‘इस समय हम काफी उठापटक वाले दौर में हैं। इस समय बाजार विश्व की प्रमुख उत्प्रेरक घटनाओं पर प्रतिक्रिया दे रहा है। इसमें सबसे प्रमुख उत्प्रेरक है अमेरिका में बॉंड प्राप्ति जिसमें काफी धन को प्रवाहित करने की क्षमता है।” बॉंड पर प्राप्ति बढ़ने से शेयरों में बिकवाली बढ़ती है जबकि प्राप्ति घटने से खरीदारी शुरू हो जाती है। मंदड़ियों की मार और शार्ट कवरिंग से बाजार में उतार चढ़ाव का दौर जारी है। बहरहाल, एशिया के अन्य बाजारों में शंघाई, हांग कांग, टोक्यो और सोल के बाजारों में कारोबार सकारात्मक दायरे में चल रहा है। बीते कारोबारी सत्र में अमेरिका में भी शेयर बाजार लाभ में रहे। इस बीच, कच्चे तेल का वैश्विक बेंच मार्क ब्रेंट क्रूड का भाव 0.83 प्रतिशत नीचे रहकर 68.31 डालर प्रति बैरल पर बोला गया।