साइलेंट मोड पर फोन रख कर भूल जाएं, तो बिल्कुल न घबरायें, ये है फोन ढूंढने का सबसे आसान तरीका

    नई दिल्ली : अक्सर ऐसा होता है कि हम महत्वपूर्ण काम करते वक्त काम में दखलअंदाजी ना हों इसके लिए अपना मोबाइल साइलेंट पर रख देते है। पर मोबाइल साइलेंट पर रखकर हम यह भूल जाते है की हमने कहां रखा है।मोबाइल हमारे लिए बड़े काम की चीज है, लेकिन कई बार इसके कारण हम डिस्टर्ब भी होते हैं। 

    खासकर जब कोई जरूरी काम कर रहे हों, किसी मीटिंग या कॉन्फ्रेंस में हों और किसी का कॉल आ जाए। ऐसे में हम अपने मोबाइल को साइलेंट मोड पर रख देते हैं। लेकिन कई बार ऐसी स्थिति आ जाती है, जब हम अपने फोन को साइलेंट मोड पर रखकर आप भूल जाते हैं। यानी उसे फिर से नॉर्मल मोड में नहीं लाते। 

    अब जरा सोचिए कि साइलेंट मोड में ही रह जाए और इसे आप कहीं रख कर भूल जाएं तो क्या होगा? या फिर साइलेंट मोड में ही फोन घर, ऑफिस या अन्‍य जगह कहीं खो जाए तो कैसे मिलेगा? ऐसे में फोन ढूंढना बहुत मुश्किल हो जाएगा न? आप दूसरे फोन से अपने फोन पर रिंग भी करेंगे तो साइलेंट होने की वजह से आवाज भी नहीं होगी। तो ऐसे वक्त क्या करें टेंशन न लें! साइलेंट मोड में पड़े फोन को ढूंढ निकालने का तरीका हम आपको बता रहे हैं…… 

    काम आएगा एंड्रॉयड डिवाइस मैनेजर 

    साइलेंट मोड में पड़े फोन को ढूंढने के लिए आप एंड्रॉइड डिवाइस मैनेजर (Android Device Manager) की मदद ले सकते हैं। हालांकि इसके लिए इंटरनेट होना जरूरी है। साइलेंट मोड पर रखे या फिर खोए हुए फोन को ढूंढने के लिए आप अपने लैपटॉप में या दूसरे मोबाइल में अपना जीमेल (Gmail) अकाउंट लॉग इन कर लें। यह तरीका लैपटॉप या कंप्यूटर पर ज्यादा सुविधाजनक है। क्योंकि दूसरे मोबाइल में अगर दूसरा जीमेल अकाउंट लॉगिन होगा तो दिक्कत होगी। 

    लैपटॉप में सबसे पहले Gmail लॉगिन करें 

    1. इसके बाद गूगल पर सर्च कर के एंड्रॉइड डिवाइस मैनेजर वेबसाइट ओपन कर लें। 
    2. यहां आपको आपके मोबाइल की करेंट लोकेशन आसानी से दिख जाएगी। 
    3. आपको पता चल जाएगा कि आपका मोबाइल घर, ऑफिस या कहीं और पड़ा है। 
    4. अब यहां आपको मोबाइल की डिटेल भी दिख रही होगी। जैसे, मोबाइल नेम, नेटवर्क, बैटरी परसेंटेज। 
    5. यहां आपको 3 ऑप्‍शन दिख रहे होंगे- प्‍ले साउंट (Play Sound), सिक्‍योर डिवाइस और इरेज डिवाइस(Erase Device) 
    6. आपको प्ले साउंट पर क्लिक करना है।​ क्लिक करते ही आपका फोन फुल वॉल्यूम में रिंग करने लगेगा। 
    7. इस तरह आप आसानी से अपना मोबाइल ढूंढ पाते हैं। 
    8. एंड्रॉयड डिवाइस मैनेजर यूज करने के लिए इन बातों का रखें ध्यान
    9. आपका मोबाइल फोन चालू होना चाहिए। 
    10. किसी गूगल अकाउंट से साइन इन होना चाहिए। 
    11. मोबाइल डाटा ऑन होना चाहिए या वाई-फाई से कनेक्‍ट होना चाहिए। 
    12. फोन में मोबाइल लोकेशन ऑन होना चाहिए। 

    Android Device Manager के लिए गूगल प्ले स्टोर पर Google Find My Device नाम का ऐप भी एवलेबल है। इसे इंस्टॉल कर के भी यूज किया जा सकता है। अब आपको 2 और कमाल के ऐप के बारे में बताते हैं, जिनके जरिये सीटी बजाकर या ताली बजाकर फोन ढूंढा जा सकता है। 

    जानें क्या है व्हिसिल फोन फाइंडर (Whistle Phone Finder)

    इस ऐप में आपके सीटी बजाते ही आपका फोन साउंट करेगा और आपको लोकेशन की जानकारी मिल जाएगी। सीटी बजाने पर न फोन में साउंड तो होगा ही, साथ ही फोन में कैमरा लाइट भी ब्राइट हो जाएगी, चमक उठेगी। ऐसे में आप अंधेरे में भी आसानी से अपना मोबाइल ढूंढ पाएंगे। इस ऐप को गूगल प्ले स्टोर से मुफ्त में डाउनलोड कर सकते हैं। 

    क्या है क्लैप टू फाइंड (Clap To Find)

    यह भी बहुत कमाल का ऐप है, जो साइलेंट मोड में भी फोन में साउंड करवाने में मदद करता है। खास बात यह है कि इसके लिए इंटरनेट की भी जरूरत नहीं पड़ती। बिना मोबाइल डाटा या वाई-फाई के यह ऐप काम करता है। गूगल प्ले स्टोर से इस ऐप को मुफ्त में डाउनलोड कर लें और बताए गए स्टेप्स के जरिये सेट कर लें। अगर आपका फोन साइलेंट मोड पर है और नहीं मिल रहा तो आपको केवल क्लैप करना होगा यानी ताली बजानी होगी। 

    आपके ताली बजाते ही आपका फोन बजने लगेगा और आप आसानी से उसे ढूंढ लेंगे। बच्चों के खिलौनों में आपने यह तकनीक देखी होगी। अगर कभी आपका मोबाइल साइलेंट मोड में हो और खो जाए तो आप परेशान न हों, बताए गए किसी भी तरीके से आप बेहद ही आसानी से अपना मोबाइल ढूंढ सकते हैं।