NSO ग्रुप का बड़ा खुलासा, कहा- iPhone यूजर्स की निजी जानकारी ट्रैक करना चाहता था Facebook

Facebookपर जासूसी का आरोप लगा है। यह आरोपइस्राइलकी NSO ग्रुप ने लगाया है।NSO ग्रुप ने कोर्ट में एकदस्तावेजजारी किया है। जिसमें उसने कहा है कि,फेसबुकएक

Facebook पर जासूसी का आरोप लगा है। यह आरोप इस्राइल की NSO ग्रुप ने लगाया है। NSO ग्रुप ने कोर्ट में एक दस्तावेज जारी किया है। जिसमें उसने कहा है कि, फेसबुक एक स्पाई सॉफ्टवेयर खरीदना चाहती थी, जिससे वो iPhone यूजर्स की निजी जानकारी ट्रैक कर सके। बताया जाता जाता है कि, इसमें आईपैड भी शामिल था। इसके अलावा 2017 में ट्रैकिंग के मुद्दे पर फेसबुक के दो अधिकारीयों ने NSO ग्रुप से बातचीत की थी।

दस्तावेज के अनुसार NSO ग्रुप के सीईओ शालेव हुलियो ने कहा है कि, 2017 में फेसबुक के दो अधिकारी उनके पास आए थे। इस दौरान उन्होंने स्पाई सॉफ्टवेयर पेगासस स्पाई सॉफ्टवेयर खरदीने के बारें में बात की। जिससे वह आसानी से आईफोन यूजर्स की निजी जानकारी ट्रैक कर सके। 

जानकारी के लिए बता दें कि पेगासस स्पाई सॉफ्टवेयर से दुनियाभर के कई लोगों के WhatsApp अकाउंट हैक किए गए थे। उस दौरान फेसबुक ने NSO ग्रुप को हैकिंग के लिए जिम्मेदार बताया था।

मीडिया रिपोर्ट कि माने तो, फेसबुक आईफोन और आईपैड यूजर्स की निजी जानकारी ट्रैक करना चाहता था। जिसके लिए फेसबुक ने NSO ग्रुप को हर महीने के हिसाब से पेमेंट देने की बात की थी।

जासूसी के आरोप पर फेसबुक ने अपनी प्रतिक्रिया दी है। जिसके उसने कहा है कि, NSO ग्रुप कोर्ट का ध्यान मौजूदा WhatsApp हैकिंग मामले से भटकाना चाहता है।