मनपा में अब कोई विपक्ष नहीं

  • आम आदमी पार्टी का आकलन

मुंबई. मुंबई मनपा में अब केवल वर्तमान सत्ताधारी दल के अलावा कोई वास्तविक विपक्ष नहीं बचा है. मुंबई के नागरिक मूलभूत समस्याओं, भ्रष्टाचार, सार्वजनिक सेवा में धांधली से त्रस्त हैं, लेकिन शिवसेना, भाजपा और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी की प्राथमिकता केवल सत्ता हथियाकर जनता की आंखों में धूल झोंकना है. आप की राष्ट्रीय प्रवक्ता प्रीती शर्मा मेनन ने कहा कि आम आदमी पार्टी मुंबई के लोगों के लिए विकल्प के रूप में नहीं, बल्कि समस्याओं के समाधान के लिए तत्पर है.  

 मेनन ने कहा कि शिवसेना, कांग्रेस, भाजपा, एनसीपी की हर मामले में परस्पर लाभ पहुंचाने की प्रवृत्ति है, जिसका खामियाजा आम जनता को भुगतना पड़ता है. मुंबई हाई कोर्ट के फैसले पर टिप्पणी करते हुए उन्होंने कहा कि कांग्रेस के रवि राजा को विपक्ष के नेता के रूप में अदालत ने पुष्टि की है. कांग्रेस को किसी न किसी तरह सत्ता चाहिए. शिवसेना को भी ऐसा विपक्षी नेता मिल गया है जो राज्य स्तर पर सहयोगी दल है. तो मनपा में विपक्ष बचा कहां ? 

भाजपा वर्षों से लूटतंत्र का हिस्सा रही 

भाजपा वर्षों से इस लूटतंत्र का हिस्सा रही है और अब इस मुद्दे पर राजनीति कर रही है. भाजपा ने 2017 में शिवसेना को समर्थन दिया था जिसमें शिवसेना ने मेयर , डिप्टी मेयर और सभी वैधानिक समितियों के अध्यक्ष पद पर अपना कब्जा जमा लिया था और अब भाजपा विपक्ष के नेता पद पर दावा कर रही है, जिसे उचित नहीं कहा जा सकता.