प्रतीकात्मक तस्वीर
प्रतीकात्मक तस्वीर

    मुंबई. मुंबई पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा (EOW) ने कच्चे धागे की खरीद-फरोख्त में 1 करोड़ 27 लाख रुपए की धोखाधड़ी (Fraud) के मामले में एक आरोपी को राजस्थान (Rajasthan) से गिरफ्तार किया है। वह आठ साल से फरार था, जबकि एक आरोपी को पिछले महीने गिरफ्तार (Arrested) किया गया था।  

    मुंबई के व्यवसायी गणेशमल जैन का कपड़ा बनाने वाले कच्चे धागे का कारोबार है। वह साईं इंटरनेशनल कंपनी के जरिए कच्चे धागे का कारोबार करते हैं। उन्होंने 1 दिसंबर 2012 को भिवंडी के एक व्यापारी के जरिए राजस्थान के व्यापारी को 96 लाख रुपए व 37 लाख रुपए का कच्चा धागा दिया। राजस्थान और भिवंडी के व्यवसायियों ने चेक में हेराफेरी कर जैन के पैसे नहीं दिए और उनके साथ धोखाधड़ी की। जैन ने ईओडब्ल्यू में तीन आरोपियों के खिलाफ धोखाधड़ी की शिकायत दर्ज करवाई थी। 

    अदालत से नहीं मिली अग्रिम जमानत  

    वर्ष 2014 में तीनों आरोपी गिरफ्तारी से बचने के लिए अदालत में अग्रिम जमानत की याचिका दायर की। उन्हें अदालत से राहत नहीं मिली और उनकी अग्रिम जमानत याचिका खारिज हो गई। पुलिस ने इस साल 20 मई को एक आरोपी को गिरफ्तार किया। उससे पूछताछ के बाद पुलिस की टीम ने ट्रेस कर राजस्थान से दूसरे आरोपी को गिरफ्तार किया। इस मामले में अभी भी एक आरोपी फरार है। पुलिस उसकी खोजबीन कर रही है।