15 दिन में बना 1000 बेड का अस्पताल, बीएमसी अभियंताओं का कमाल

मुंबई. मुंबई के ई वार्ड में कोरोना मरीजों के लिए भायखला स्थित रिचर्डसन एंड क्रूडास में बीएमसी 1000 बेड का अस्पताल बनाया है. यह बीएमसी अभियंताओं का कमाल था कि यह जंबो अस्पताल 15 दिन के भीतर तैयार कर लिया गया. इसमें 300 ऑक्सीजन बेड की भी सुविधा है. इस महीने के अंतिम सप्ताह से  अस्पताल में मरीजों की भर्ती शुरू कर दी जाएगी.

ई वार्ड के सहायक आयुक्त मकरंद दगडखैर ने बताया कि बीएमसी कमिश्नर इकबाल सिंह चहल और अतिरिक्त आयुक्त शहर संजीव जयसवाल ने अस्पताल बनाने का निर्देश दिया था. जंबो सुविधा के रुप में इसे तैयार किया गया है. कोरोना मरीजों को ऑक्सीजन की आवश्यकता को देखते हुए 300 ऑक्सीजन बेड भी तैयार किया गया है. यहां मरीजों की देखभाल के लिए 50 डॉक्टर्स, 100 नर्सेस सहित 150 अन्य स्टाफ रखे जाएंगे. चिकित्सा सुविधाओं का  नियोजन करने की जिम्मेदारी  परिमंडल-1 के  सहायक स्वास्थ्य अधिकारी डॉक्टर प्रमोद आष्टेकर और ‘ई विभाग  चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर निपा मेहता पर थी. ई विभाग के सब इंजीनियर अक्षय जगताप,  पूजा तावडे का भी पूरा योगदान रहा.

जीटी अस्पताल में 100 वां कोरोना मरीज जांच केंद्र 

मुंबई के गोकुलदास तेजपाल अस्पताल में 100 वां कोरोना मरीजों की जांच केंद्र का मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने लोकार्पण किया. इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना वायरस का प्रभाव रोकने के लिए राज्य में उपाय किए जा रहे हैं. मरीजों को गुणवत्तापूर्ण सुविधा प्रदान करने और भविष्य में कोरोना संकट का सामना करने के सक्षम यंत्रणा तैयार की जा रही है.  निरोगी महाराष्ट्र के लिए स्वास्थ्य सुविधाएं बढ़ाने पर जोर दिया जा रहा है.वैद्यकीय शिक्षा व औषधी  विभाग की तरफ से जी.टी. अस्पताल में 100 वां मरीजों की जांच के लिए लैब शुरु किया गया. ई- लोकार्पण के अवसर पर राजस्व मंत्री बाला साहेब थोरात, वैद्यकीय शिक्षा मंत्री अमित देशमुख, पालक मंत्री असलम शेख ,वैद्यकीय शिक्षा सचिव डॉ. संजय मुखर्जी, वैद्यकीय शिक्षा निदेशक डॉ. तात्याराव लहाने उपस्थित थे. 

धारावी के निसर्ग उद्यान में भी 300 बेड का अस्पताल बनाया गया 

 मुख्यमंत्री ने कहा कि  मुंबई के  बांद्रा-कुर्ला कांप्लेक्स, वर्ली के  एनएससीआई डोम, गोरेगांंव में युद्धस्तर पर  कोविड के लिए फील्ड अस्पताल बनाया गया. धारावी के निसर्ग उद्यान में भी 300 बेड का अस्पताल बनाया गया है. महाराष्ट्र में बनाए गए फील्ड अस्पताल की तर्ज पर दिल्ली में भी ऐसे अस्पताल बनाए जा रहे हैं. अमित देशमुख ने कहा कि महाराष्ट्र में सर्वाधिक कोरोना की जांच की गई है. ऑक्सिजन, डायलिसिस मशीन्स, वेंटिलेटर की उपलब्धता के अलावा प्लाज्मा थेरेपी के लिए भी लैब बनाए गए हैं. 100 वें लैब में कोरोना मरीजों की जांच हो रही है.  सरकारी लैब में  17,500 और निजी लैब में 20,500 को मिला कर प्रतिदिन 38,000  जांच की जा रही है. 

एल वॉर्ड में 18 अवैध बाजार बंद

एल वार्ड कुर्ला में कोरोना मरीजों की बढ़ती संख्या को नियंत्रित करने के लिए अवैध बाजारों पर प्रतिबंध लगा दिया गया है. सहायक आयुक्त वालुंज ने बताया कि अवैध बाजारों के कारण क्षेत्र में अत्यधिक भीड़ लग रही थी जिस कारण से सोशल डिस्टेंसिंग का लोग पालन नहीं हो रहा था इसलिए  हमने कुर्ला स्टेशन से लेकर तुंगा एरिया तक के 18 अवैध रुप से लग रहे बाजारों को बंद करने का फैसला लिया है. इसमें कुर्ला रेलवे स्टेशन (प.), कुर्ला रेलवे स्टेशन (पूर्व), न्यू मिल रोड, पाइप रोड, हॉल रोड, वाडिया इस्टेट, कामगार नगर, वी एन पुरव मार्ग, काजूपाडा, जरीमरी रोड, मोहिली पाइप लाइन रोड, म्हाडा कॉलोनी चांदिवली, तुंगा, मिलिंद नगर, असल्फा मार्केट, शास्त्री नगर, कुरेशी नगर और कार्तिक स्कूल शामिल है. वालुंज ने कहा कि अवैध  बाजार लगाने वाले दुकानदारों के खिलाफ कार्रवाई शुरू कर दी गई है.