crops

मुंबई. मुंबई में कोरोना कम करने में लगी बीएमसी के 1808 कर्मचारी कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं. संक्रमित कर्मचारियों में अधिकतर फ्रंटलाइनर हैं, जिनका कोरोना मरीजों से सीधा वास्ता रहता है. इनमें से 80 फीसदी कर्मचारी ग्रेड सी और डी केटेगरी के हैं. अब तक 71 कर्मचारियों की मौत हो चुकी है फिर भी दूसरे कर्मचारी पूरे दमखम के साथ कोरोना को परास्त करने में लगे हुए हैं. 

नंबर अभी बढ़ सकता है

बीएमसी के अन्य विभागों से अभी संक्रमित और मृत कर्मचारियों की जानकारी सौंपी जानी है. इसलिए संभावना जताई जा रही है कि यह नंबर अभी बढ़ सकता है. बीएमसी के अनुसार अभी जो डाटा प्राप्त हुआ है उनमें से 20 मृत कर्मचारी घन कचरा व्यवस्थापन विभाग के हैं. 17 कर्मचारी स्वास्थ्य विभाग के, 12 कर्मचारी वार्डों के, फायर ब्रिगेड के 6 और सिक्योरिटी विभाग के 7 कर्मचारी हैं. 71मृत कर्मचारियों में 64 प्रतिशत स्वीपर, लेबर, मुकादम, वार्ड ब्वाय, चपरासी सभी चतुर्थ श्रेणी और जूनियर इंजीनियर, जूनियर क्लर्क एवं अन्य तृतीय श्रेणी के हैं. संक्रमित 1808 कर्मचारियों में 416 और सी ग्रेड के और 1068 डी ग्रेड के हैं.  इनमें से 1,053 कर्मचारियों ने कोरोना को परास्त करने में कामयाब रहे. 

कर्मचारियों का मृत्यु प्रमाण पत्र सौंपा गया 

बीएमसी के ज्वाईंट कमिश्नर मिलिंद सावंत (सामान्य प्रशासन विभाग मनपा) का कहना है कि विभाग के संक्रमित कर्मचारियों का मृत्यु प्रमाण पत्र सौंंपा गया है उनमें कोविड-19 से मृत्यु होने का उल्लेख किया गया है. हम मृतको के वारिसों को तेजी से मनपा की तरफ से घोषित नुकसान भरपाई को क्लीयर कर रहे हैं.