वीवीएमसी के 5 प्रभाग क्षेत्र कन्टेनमेंट जोन घोषित

विरार. वसई- विरार क्षेत्र में बढ़ते कोरोना संक्रमण से लोगों में डर का माहौल है. वर्तमान में नालासोपारा पूर्व में 600 के आसपास कोरोना मरीज मिल चुके हैंं. जिनमेंं 27 लोगोंं की मौत हो चुकी है. इसके साथ ही 262 से ज्यादा लोग ठीक हो चुके हैंं. गुरुवार को मनपा सहायक आयुक्त ने 5 प्रभाग क्षेत्रों के कई इलाकों को पूरी तरह से प्रतिबंधित (कन्टेनमेंट जोन) घोषित है.

14 दिन के लिए पूरी तरह प्रतिबंधित 

 मनपा के प्रभाग समिति बी विरार पूर्व का रहमत नगर, अंसारी नगर, लक्ष्मी नगर व ओम् नगर, प्रभाग समिती सी चंदनसार का गांधी चौक विरार पूर्व ( गांधी चौक से जनकपुर धाम) तक, सहकार नगर क्षेत्र में बिठूर माली कम्पाउन्ड से मथुरा डेरी तक, प्रभाग समिति डी अचोले का गाला नगर में (लक्ष्मण अपार्टमेंट से वैभव इमारत, शिर्डी नगर में सीमा इमारत से खिस्तराज अपार्टमेंट), शंखेश्वर नगर में शिवसेना शाखा से द्रोपती स्कूल  वैतीवाडी, प्रभाग समिति एफ धानीव पेल्हार में श्रीराम नगर गेट नंबर 1 से डोंगर पाड़ा रोड, गॉड ब्लेस विद्यालय से श्रीराम नगर,  धानिवबाग नाके से वेलकम डेयरी (शिवमन्दिर रोड), संतोष भुवन परिसर स्थित विद्यालय परिसर तांडापाड़ा से अन्नाडीस परिसर व सर्वोदय नगर, वालाई पाड़ा में सीताराम होटल से सह्याद्रि नगर, वाकनपाडा का संपूर्ण परिसर, वसई फाटा स्थित इंदिरा वसाहत, मिल्लतनगर व वान्याचा पाड़ा तथा प्रभाग समिती जी वालिव में गणेश माली के घर से भगते कम्पाउन्ड तक, तुंगार फाटा से बप्पा सीताराम मन्दिर तक एवं फादर वाडी नाके से विद्या विकासिनी विद्यालय परिसर शामिल है. इन इलाकों को 18 जून से 14 दिनों के लिए पूर्णरूप से प्रतिबंधित किया गया है. यहां सिर्फ अत्यावश्यक सेवा, किराना स्टोर्स, मेडिकल स्टोर्स एवं जीवनावश्यक पदार्थों की आपूर्ति ही शुरू रहेगी. 

तेजी से बढ़ रहे हैं कोरोना मरीज

साथ ही बताया गया है कि वसई-विरार में बढ़ते कोरोना संक्रमण को रोकने लिए मनपा ने जिन क्षेत्रों में कोरोना मरीजों की संख्या अधिक है, उसे कन्टेनमेंट (प्रतिबंधित) क्षेत्र घोषित कर दिया है. अब उन क्षेत्रों में सिर्फ अतिआवश्यक सेवाएं ही प्रदान की जा जाएगी. वसई विरार मनपा आयुक्त गंगाधरन डी. के आदेश पर यह आदेश जारी किया गया है.