कोरोना संकट में 53 हजार को मिला रोजगार

  • नवाब मलिक ने दी जानकारी

मुंबई. वैश्विक महामारी की वजह से बेरोजगारी की समस्या निर्माण हुई है, लेकिन कौशल्य विकास, रोजगार और उद्योजकता विभाग की तरफ से लॉकडाउन के दौरान जिला स्तर पर ऑनलाइन रोजगार सम्मेलन का आयोजन कर और महास्वयंम वेबपोर्टल के मार्फत राज्य में 53  हजार 41 बेरोजगारों को रोजगार उपलब्ध कराया गया है. यह जानकारी राज्य के कौशल्य एवं अल्पसंख्यक विकास मंत्री नवाब मलिक ने दी है. 

मलिक के मुताबिक केवल अगस्त महीने में 13 हजार 754 बेरोजगारों को रोजगार उपलब्ध कराया गया है. इसके पहले अप्रैल से जुलाई तक 4 महीनों में 39 हजार 287 बेरोजगारों को रोजगार उपलब्ध कराया गया था. 

वेबपोर्टल शुरु किया 

मलिक ने कहा कि बेरोजगार अभ्यर्थियों और उद्योजक के बीच सामंजस्य स्थापित करने के लिए कौशल्य विकास, रोजगार एवं उद्योजकता विभाग ने https://rojgar.mahaswayam.gov.in वेबपोर्टल शुरु किया है.इस वेबपोर्टल पर बेरोजगार अभ्यर्थी अपनी शिक्षा , कौशल्य, अनुभव आदि की जानकारी पंजीकरण करता है.इसके साथ ही कुशल कामगारों की तलाश करने वाली कंपनियां, उद्योजक, कॉर्पोरेट्स भी वेबपोर्टल पर पंजीकरण कर कुशल अभ्यर्थी की तलाश कर सकते हैं.