मुंबई में 6 हजार इमारतें, 750 झोपड़पट्टी इलाके सील

– मरीजों की हर हाल में बचाओ जान

– आयुक्त ने दिया डॉक्टरों को निर्देश

मुंबई. मुंबई में कोरोना के कारण 6 हजार इमारतें और 750 झोपड़पट्टी इलाके सील किए गए हैं. कंटेनमेंट जोन वाले इलाकों में रहने वाले लाखों लोगों के लिए कोरोना परेशानी का सबब बन गया है. सबसे ज्यादा मरीज इन्हीं कंटेनमेंट जोन इलाके से आ रहे हैं. मरीजों की संख्या बढ़ने से मृत्यु दर भी बढ़ रही है. बीएमसी कमिश्नर इकबाल चहल ने डॉक्टरों को विशेष निर्देश दिया है कि मरीजों की जान बचाने के लिए सभी उपाय किए जाएं. 

 मुंबई में कोराना मरीजों की मृत्यु दर बढ़ने के साथ बीएमसी अधिकारियों की चिंता बढ़ने लगी है. जून के पहले सप्ताह में मृत्यु दर  2.8 प्रतिशत तक लाने में सफलता मिली थी. लेकिन जून के आखिरी सप्ताह में एक बार फिर मृत्यु दर बढ़ कर 6.0 प्रतिशत के करीब पहुंच गई है. आयुक्त ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए विशेषज्ञ डॉक्टरों की टीम के साथ बैठक की. आयुक्त ने कहा कि कोरोना मरीजों की संख्या नियंत्रित करने में हम कुछ हद तक सफल रहे हैं मृतकों की संख्या बढ़ी है जिसे हर हाल में कम किया जाना चाहिए.

 मरीजोंं के ठीक होने का प्रमाण बढ़ा 

कोरोना के जितने मरीज मिल रहे हैं उसमें अलक्षणीय मरीजों की संख्या अधिक है. मरीजोंं के ठीक होने का प्रमाण बढ़ा है. अस्पताल में इलाज करा रहे मरीजों की संख्या कम होने से बेड मिलने और आईसीयू , एनआईसीयू की उपलब्धता के बाद मरीजों को बेहतर उपचार की सुविधा मिल रही है. मरीजो को इलाज के लिए अब प्लाझमा सुविधा सहित अन्य प्रकार की दवाओं का भी उपयोग किया जाने लगा है.मनपा आयुक्त ने वरिष्ठ डॉक्टर को निर्देश दिया कि दिन में एक से दो बार अपने जूनियर डॉक्टरों से वीडियो कोंनफ्रेन्सिंग के जरिए मरीजों की स्थिति का जायजा अवश्य लें. उन्होंने डॉक्टरों के साथ नर्स और चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारियों को निर्देश दिया कि वह भी डॉक्टरों की तरह मुस्तैद होकर काम करें. 

10 लाख 88 हजार 32 घर सील के दायरे में  

मुंबई में झोपड़पट्टी 750 इलाके कंटेनमेंट जोन हैं. 10 लाख 88 हजार 32 घर सील के दायरे में आ गए हैं. 47 लाख 13 हजार 779 लोग इन इलाकों में रहते हैं. यहां मरीजों की संख्या 25 हजार 931 है. जबकि 5875 इमारतें अथवा फ्लैट सील किए गए हैं वहां मरीजों की संख्या 16 हजार 217 है. इन इमारतों में 3 लाख 52 हजार  815 फ्लैट हैं. यहां रहने वाली आबादी 14 लाख 31 हजार 512 है. कुल मिलाकर कर 3 महीने बाद भी 61 लाख 45 हजार 291 लोग कोराना के कारण कंटेनमेंट की त्रासदी सहन कर रहे हैं. 

पांच प्रमुख वार्ड जहां इमारते और स्लम सबसे ज्यादा सील हैं. 

क्षेत्र                    इमारतें

बोरीवली             636

अंधेरी पूर्व            569

माटुंगा                532

मालाड                497

कांदिवली           422

 

क्षेत्र                       स्लम 

कुर्ला                       96

भांडुप                      74

चेंबूर                       74

अंधेरी पश्चिम         55

मुलुंड                       42