Court
File Photo

    मुंबई में एक ऐसा मामला सामने आया है जिसने रिश्तों को शर्मसार कर दिया है। अपनी ही बेटी और नातिन के साथ रेप में मामले में पुलिस ने 65 साल के शख्स को सजा सुनाई है।  प्रोटेक्शन ऑफ चिल्ड्रन फ्रॉम सेक्सुअल ऑफेंस (POCSO) मुंबई की एक विशेष अदातल 65 साल ले शख्स को उम्रकैद की सजा सुनाई है।  पीड़ित महिला ने यह बात अदालत में बताई की 15 साल की उम्र से ही उसका पिता उसके साथ यौन उत्पीड़न जैसा अपराध कर रहा था। महिला ने बताया की शादी के बाद भी महिला अपने माता पिता के साथ ही रह रही थी। यौन उत्पीड़न के मामले का खुलासा ना करे , इसके लिए महिला के पिता ने अपनी  बेटी के बच्चों नातिन को नुकसान पहुंचाने की धमकी देता था। 

    रिपोर्ट्स के मुताबिक, महिला अपनी मां के साथ घर के कामों में ही हाथ बटाती थी।  पीड़ित महिला ने अदालत में एक बड़ा खुलासा किया कि उसने उसके पिता के  द्वारा किये गए यौन उत्पीड़न के बारे में पड़ोसी को बताया था। उसके कुछ समय बाद पड़ोसी की मौत होगी। महिला ने पड़ोसी की मौत के बाद इस बात का जिक्र किसी से नहीं किया, लेकिन जब उसकी बेटी ने अपने नाना की हरकतों के बारे में बताया तो यह सब सुनकर वो दंग रह गई।

    महिला ने बताया कि 2017 में जब एक दिन मेरी बेटी रोते हुई आई और मेरे पास आकर मुझे बताया की नाना रात को मेरे पास आकर सोते है और गंदी हरकरत करते हैं। मेरी बेटी उस समय दूसरी कक्षा में पढ़ती थी. महिला को जब बच्ची ने जब यह सब बताया तो वह यह सुनकर हैरान हो गई. अपने पिता के अपनी बेटी के साथ की हुई  गलत हरकत को बर्दाश्त नहीं कर पाई उसके बाद महिला सीधे नजदीकी  पुलिस स्टेशन पहुंची। उसने अपने पिता के खिलाफ अपने और अपनी बेटी के ऊपर किये गए यौन उत्पीड़न का मामला दर्ज करा दिया। 

    सभी सबूतों के साथ के साथ न्यायाधीश ने  रेखा एन पंधारे ने आईपीसी की धारा 376 (2) (बलात्कार) और पॉक्सो एक्ट के तहत आरोपी को दोषी पाया। अदालत ने पिता को उम्रकैद की सजा सुनाई, साथ ही जुर्माना भी लगाया। दोषी पिता को बेटी और नातिन को मुआवजा में बेटी को  50,000 रुपये और नातिन को 25,000 रुपये देने का आदेश दिया।