987 Students going abroad got security dose

    मुंबई. विदेश (Foreign) में एडमिशन (Admission) मिलने के बाद विद्यार्थियों (Students) के लिए सबसे बड़ी चुनौती है वैक्सीन (Vaccine) लेना।  कई देशों ने यह शर्त रखी है कि दूसरे देशों से आने वाले यात्री, विद्यार्थी व नागरिकों को वैक्सीन लगावा कर ही आना है।  ऐसे में  बीएमसी (BMC) ने मुंबई के सैंकड़ों विद्यार्थियों की इस समस्या को सुलझाने का कार्य शुरू कर दिया है। पढ़ाई के लिए विदेश जाने वाले 987 विद्यार्थियों को सुरक्षा की पहली खुराक दी। 

    मनपा ने कस्तूरबा, राजावाड़ी और कूपर अस्पताल में विद्यार्थियों के टीकाकरण की व्यवस्था की है।  वैसे तो मनपा ने प्रत्येक केंद्र पर 50 विद्यार्थियों को ही टीका देने की योजना बनाई थी, लेकिन देखते ही देखते केंद्र पर विद्यार्थियों की सैंकड़ों की संख्या में भीड़ इक्कठा हो गई।  शुरुआत में पहले आए 50 लोगों का ही टीकाकरण किया जाएगा ऐसा विद्यार्थियों को सूचित किया गया, लेकिन विद्यार्थी भी कोरोना से सुरक्षा की डोज और विदेश में एंट्री के अपने लक्ष्य के लिए कतार में डटे रहे।  नतीजतन मनपा को आनन-फानन में और टीके की खुराक मंगाकर विद्यार्थियों का टीकाकरण करना पड़ा।  मनपा की कार्यकारी स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.  मंगला गोमारे ने कहा कि हमने पहले ही घोषणा की थी कि प्रत्येक केंद्र पर 50 लोगों का टीकाकरण किया जाएगा, लेकिन बड़ी संख्या में विद्यार्थियों केंद्र पहुंचे।  हमने जैसे तैसे मैनेज कर मुंबई के निवासी विद्यार्थियों का टीकाकरण किया है। 

     सभी विद्यार्थियों को कोविशिल्ड वैक्सीन दी गई

     सभी विद्यार्थियों को कोविशिल्ड वैक्सीन दी गई है अब अगली खुराक अगस्त से सितंबर के बीच लगेगी।  तब तक मुंबई सहित देशभर में हालात ठीक होने के आसार दिखाई दे रहे हैं और विदेशी उड़ाने भी शुरू हो जाएंगी यानी विद्यार्थियों को समय पर सेकंड डोज मिल जाएगा और उनके लिए विदेश में शिक्षा प्राप्त करने का रास्ता भी साफ हो जाएगा। 

    आउट ऑफ मुंबई के नो टीका

    सोमवार को टीके के लिए मुंबई, नवी मुंबई, ठाणे, पालघर से विद्यार्थी पहुंचे।  केंद्र पर विद्यार्थियों की भीड़ मनपा के अनुमान से भी अधिक जमा हो गई।  जिसके मनपा ने आउट ऑफ मुंबई के विद्यार्थियों को बिना टीका दिए ही लौटा दिया, क्योंकि यह सुविधा मनपा ने केवल मुंबई के निवासी विद्यार्थियों के लिए शुरू की है। 

    हमारे पास वैक्सीन बहुत कम बची है, मंगलवार को जितनी वैक्सीन केंद्र पर उपलब्ध होगी उतने ही लोगों को टीका मिलेगा। टीका यदि समाप्त हो जाता है तो विद्यार्थियों को वापस लौटना होगा।

    -डॉ. मंगला गोमारे, मनपा कार्यकारी स्वास्थ्य अधिकारी

    86887 लोगों का टीकाकरण

    मुंबई में टीके की कमी के बावजूद अबतक सबसे अधिक 86887 लोगों का टीकाकरण सोमवार को किया गया।  इसमें सबसे अधिक भागीदारी निजी अस्पतालों की रही जिनके पास फिलहाल वैक्सीन उपलब्ध है।  सोमवार को निजी केंद्रों पर 64610 लोगों का टीकाकरण किया गया।  बाकी के लोगों का मनपा व सरकारी केंद्रों पर टीकाकरण किया गया।  मुंबई में अब तक 3276041 लोगों टीकाकरण किया गया है।