ज्यादा फीस लेने वाले कॉलेजों पर कार्रवाई हो

  • छात्र भारती ने शिक्षा उपनिदेशक से की मांग

मुंबई. अनुदानित उच्च माध्यमिक कॉलेजों में सरकार द्वारा निर्धारित दर से ज्यादा शुल्क लेने वाले कुछ कॉलेजों के खिलाफ छात्र भारती यूनियन ने आवाज उठाई है. इस संबंध में छात्र भारती के अध्यक्ष रोहित ढाले ने मुंबई के शिक्षा उप निदेशक अनिल साबले को एक पत्र भी सौंपा, जिसमें उन्होंने मांग की है कि निर्धारित दर से ज्यादा शुल्क वसूलने वाले कॉलेजों के खिलाफ कार्रवाई की जाए.

अतिरिक्त राशि वापस कराई जाए

रोहित ने कहा कि इस पत्र के जरिए यह भी कहा गया है कि जिन कॉलेजों ने 11वीं और 12वीं में छात्रों से निर्धारित दर से ज्यादा फीस लिए हैं, उन छात्रों को अतिरिक्त राशि वापस कराई जाए. रोहित ढाले ने कहा कि पुणे स्थित शिक्षा निदेशालय ने पिछले महीने एक पत्र के जरिए महाराष्ट्र के सभी शिक्षा उप निदेशकों को आदेश दिया था कि सरकार द्वारा निर्धारित दर से ज्यादा शुल्क कोई कॉलेज न वसूलने पाये. यदि किसी कॉलेज ने ऐसा किया है तो उनके खिलाफ कार्रवाई करें. 

कई कॉलेज ज्यादा शुल्क वसूल रहे

रोहित ढाले ने बताया कि मुंबई के कई ऐसे कॉलेज हैं जो अभिभावकों से ज्यादा शुल्क वसूल रहे हैं. उन्होंने कहा कि 11वीं का शुल्क 500 से 700 रुपए वार्षिक है, लेकिन कॉलेज कई गुना ज्यादा फीस ले रहे हैं. उन्होंने उदाहरण के तौर पर बांद्रा स्थित चेतना कॉलेज का नाम लिया, जिसने 2,320 रुपए लिए हैं. जो निर्धारित शुल्क से कई गुना ज्यादा है.